HamburgerMenuButton

Gwalior Corona Alert News: रिम्स हॉस्पिटल के कोविड सेंटर के बाहर जलाया संक्रमित कचरा, दमकल ने बुझाई आग

Updated: | Sat, 15 May 2021 10:25 AM (IST)

Gwalior Corona Alert News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। प्राइवेट अस्पतालों द्वारा संक्रमित कचरा फैलाकर लोगों को संक्रमित करने का खेल खेला जा रहा है। पहले यह अस्पताल कैंसर पहाड़ी, चिरवाई नाका, शीतला माता की पहाड़ी क्षेत्र में कचरा फैला रहे थे, लेकिन गुस्र्वार को स्थानीय लोगों ने एक वाहन को पकड़ा तो अब अस्पताल कोविड सेंटर के बाहर खुले में संक्रमित कचरा जलाने लगे हैं। रिम्स अस्पताल द्वारा होटल विरासत में कोविड सेंटर बनाया गया है, सेंटर के पीछे संक्रमित कचरे को डालकर स्टॉफ ने आग लगा दी। इससे लोगों का दम घुटने लगा, जिसके बाद दमकल को बुलाया गया। वहीं टिपर वाहन नहीं आने से थाटीपुर स्थित सरकारी आवासों सहित दर्पण कालोनी आदि क्षेत्रों में लोग खुले मैदानों में कचरे को फेंक रहे हैं।

कोविड अस्पताल द्वारा लगातार खुले में कचरा फैंक कर शहर में कोरोना की तीसरी लहर लाने का प्रयास किया जा रहा है। अभी तक नगर निगम दो निजी अस्पतालों के वाहनों को पकड़ चुका है, जबकि तीसरे वाहन को स्थानीय लोगों ने गुस्र्वार को पकड़ा था। रिम्स अस्पताल द्वारा होटल विरासत में बनाए गए कोविड सेंटर से निकले कचरे को खुले में डाल कर इसमें आग लगा दी गई। इसमें पीपीई किट, ग्लब्स, दवाईयां आदि थी। आग लगने से उठे धुंए के कारण आसपास के लोगाें का दम घुटने लगा जिसके बाद दमकल विभाग को मौके पर बुलाया गया। दमकल विभाग ने आग पर काबू पाया। वहीं निगमायुक्त ने इंसीनेटर कंपनी से जानकारी मांगी है कि कितने कोविड अस्पताल अपना कचरा निस्तारण के लिए उनके पास भेज रहे हैं। यह जानकारी आ जाने के बाद कचरा नहीं भेजने वाले अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

थाटीपुर क्षेत्र में नहीं आ रहे कचरा वाहनः थाटीपुर स्थित सरकारी आवास, दर्पण कालोनी सहित आसपास के क्षेत्र में करीब पांच हजार लोगों की आबादी निवास करती है। यहां कचरे का कलेक्शन डोर टू डोर टिपर वाहनों से होता था, लेकिन अब यहां टिपर वाहन दो से तीन दिन छोड़कर पहुंच रहे हैं। इसके कारण लोग खुले मैदान में खचरा फेंक रहे हैं। साथ ही सड़कों पर झाडू लगाने आने वाले कर्मचारी भी काफी समय से नहीं आ रहे। पूर्व पार्षद व कांग्रेसी नेत्री केशकली जाटव ने इस मामले को लेकर इंटरनेट मीडिया पर कचरे की तस्वीर के साथ पोस्ट भी डाली है। वहीं स्थानीय निवासियों ने भी बताया है कि यहां कचरा संग्रहण वाहन नहीं हो रहा है।

वर्जन-

कचरा वाहन दो से तीन दिनों में आ रहा है, इसके कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अधिकांश लोग अपना कचरा अब खुले भूखंडों में फेंक रहे हैं, जिसके कारण कचरे के ढेर लगे हुए हैं।

केके दुबे, निवासी सरकारी आवास, थाटीपुर

वर्जन-

इन दिनों कचरा वाहन नहीं आ रहे हैं। इसके कारण हमारे घर के पास स्थित पुलिस अधिकारी के खाली भूखंड पर लोग कचरा फेंक रहे हैं। यह कचरा आंधी के कारण सड़कों पर फैल रहा है।

राकेश सिंह, निवासी दर्पण कालोनी

वर्जन-

कोविड अस्पतालों द्वारा कचरा निस्तारण नहीं किया जाने वाला मामला काफी गंभीर है, हमने जानकारी मांगी है, जानकारी मिलने पर कचरा फैलाने वाले अस्पतालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं थाटीपुर क्षेत्र में टिपर वाहन क्यों नहीं पहुंच रहे हैं इसका मैं पता करता हूं।

शिवम वर्मा, निगमायुक्त

Posted By: vikash.pandey