Gwalior Corona Virus News: 25 दिन में 10 बार आया शून्य, फंगस का मरीज मिला

Updated: | Mon, 26 Jul 2021 10:45 AM (IST)

Gwalior Corona Virus News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जीआर मेडिकल कालेज से रविवार को आई 1941 लोगों की कोरोना जांच में कोई संक्रमित नहीं पाया गया। जुलाई के 25 दिन में 10 दिन ऐसे रहे, जब जिले में कोई भी व्यक्ति संक्रमित नहीं पाया गया। कोरोना का प्रकोप कम है या फिर जांच ठीक से नहीं हो रही है? यह राहत के साथ चिंता वाली बात है।

करोना संक्रमितों का आंकड़ा शून्य मिलना राहत देता है। यदि सैंपलिंग ठीक से नहीं होने के कारण संक्रमण शून्य हो तो यह चिंता में डालने वाली बात है। जुलाई माह में कोरोना का आंकड़ा कम ही रहा है। जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या भी 10 पर स्थिर है। इधर जयारोग्य अस्पताल के बर्न वार्ड में मरीजों की संख्या 10 हो गई है। एक नया मरीज रविवार को भर्ती हुआ, जिससे आंकड़ा एक बार फिर बढ़ गया है। हालांकि राहत की बात यह है कि सभी मरीजों का इलाज दवाई से किया जा रहा है। किसी भी मरीज का आपरेशन करने की स्थिति अभी नहीं है। डाक्टर का कहना है कि यह मरीज जल्द ही ठीक होंगे और अपने घर पहुंचेंगे

25 हजार 660 की जांच में एक भी संक्रमित नहीं मिला

जुलाई के 25 दिन में दस दिन संक्रमण शून्य रहा। इन दस दिन में 25660 लोगों के सैंपल लिए गए, जिनमें कोई भी संक्रमित नहीं मिला। हालांकि जिला अस्पताल की सैंपलिंग टीम द्वारा किए जा रहे रैपिड एंटीजन टेस्ट की प्रक्रिया पर सवाल खड़े हुए हैं। इसमें पाया गया था कि फर्जी नाम सूची में जोड़कर उनका सैंपल होना बताया गया और इन सभी की रिपोर्ट निगेटिव आना बताई गई । इसके मैसेज उन लोगों पर भी पहुंचे, जिन्होंने पहले कभी जांच कराई ही नहीं थी। इसका खुलासा होने के बाद रैपिड एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट जारी करना ही बंद कर दी गई, जिससे फर्जीवाड़ा पकड़ा न जा सके।

जिले में संक्रमण कम हुआ है, इस कारण से जांच में भी कम ही संक्रमित पाए जा रहे हैं। अस्पतालों में भी मरीज कम हैं, इससे साफ है जिले में कोरोना घटा है और लोगों ने भी सर्तकता रखी है। उनकी यही सतर्कता कोरोना को समाप्त करेगी। रिपोर्ट जारी नहीं हो रही, इस विषय में जानकारी लूंगा।

डा. मनीष शर्मा सीएमचओ

Posted By: anil.tomar