Gwalior Crime News: संतान के लिए कालगर्ल की सीरियल किलिंग, तांत्रिक मोबाइल पर पढ़ता मंत्र और आरोपित घोंटता था गला

Updated: | Mon, 25 Oct 2021 09:26 AM (IST)

Gwalior Crime News: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। महिला के बलि देने की पड़ताल में एक और सनसनीखेज खुलासा हुआ है। तांत्रिक बाबा के इशारे पर चारों आरोपितों ने रदीय नवरात्र की दुर्गाष्टमी को एक महिला को मुरैना जिले के सरायछोला के बीहड़ में मीनू उर्फ नीरू की गला घोंटकर बलि दी थी। गला घोटने के समय बाबा मोबाइल पर मंत्र पढ़ रहा था और नीरज संबंध बना रहा था। जब बाबा को मालूम पड़ा कि बलि से पहले महिला ने शराब पी रखी थी, तो उसने अपने शार्गिदों से कहा कि तुम लोगों से चूक हो गई। महिला के बलि से पहले शराब पीने से देवताओं ने उसकी बलि अस्वीकार कर दिया है। इसलिए अब संतान के लिए दूसरी बलि तलाश करनी पड़ेगी। उसके बाद लक्ष्मी उर्फ आरती मिश्रा की बलि दी गई थी। सरायछोला थाना पुलिस ने गुरुवार को बीहड़ में एक महिला का शव मिलने की पुष्टि की। अज्ञात महिला की गला घोटकर हत्या की गई थी। पुलिस ने पांचों आरोपितों को तीन के रिमांड पर लिया है।

ऐसे खुला दूसरी बलि का राज

एसपी अमित सांघी ने बताया आरती उर्फ लक्ष्मी के अंधे कत्ल का खुलासा होने के बाद शुक्रवार की रात को ही तांत्रिक गिरवर यादव उर्फ सखी बाबा निवासी दतिया सेवढ़ा को पकड़ लिया। पांचों आरोपितों के खिलाफ हत्या के भौतिक साक्ष्य जुटाने के लिए आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की जा रही थी। आरोपितों की सीडीआर में एक नीरू उर्फ मीनू का नंबर सामने आया। यह सिम नीरज परमार के मोबाइल में पकड़ में आई थी। इस सिम के संबंध में पूछताछ करने पर पता चला की आरोपितों ने दुुर्गाष्टमी के दिन मीनू निवासी हजीरा की बलि दी थी। आश्चर्य की बात यह थी कि मीनू की गुमशुदगी भी किसी थाने में दर्ज नहीं थी।

सरायछोला के बीहड़ में दी थी बलि

लक्ष्मी उर्फ आरती मिश्रा की हत्या के आरोपित बेटू भदौरिया उसकी पत्नी ममता भदौरिया, बहन मीरा परमार व बहन के साथ रहने वाले नीरज परमार व तांत्रिक गिरवर यादव ने कबूल किया कि ममता व बेटू भदौरिया को संतान प्राप्ति के लिए अनुष्ठान में पहली बलि मीनू उर्फ नीरू की बलि दी गई थी। आरोपितों ने बताया कि नीरू को पांच हजार रुपये में बुलाया गया था और सरायछोला थाना क्षेत्र के बीहड में बड़ी नहर के पास ले जाकर बलि दी थी।

बाबा मोबाइल पर मंत्र पढ़ रहा था, नीरज ने गला घोटकर हत्या कर दी

आरोपित ने बताया कि मौज-मस्ती के लिए महिला को बीहड़ में ले जाकर शराब पिलाई। तांत्रिक को बताया कि बलि के लिए 40 साल की महिला को ले आए हैं। बाबा ने तांत्रिक अनुष्ठान शुरू किया। मोबाइल पर ही मंत्र को बुदबुदाने लगा। इस बीच नीरज ने बाबा से इशारा मिलते ही दुपट्टे से गला घोंटकर हत्या कर दी। तांत्रिक को जब मालूम पड़ा कि जिस महिला की बलि दी गई उसने शराब का सेवन कर रखा था। उस पर वह बिगड़ गया और बोला तुमने सब काम खराब कर दिया। देवताओं ने बलि को अस्वीकार कर दिया और कुपित है। शरद पूर्णिमा के दिन एक और महिला की बलि देनी होगी। अन्यथा अनर्थ हो जाएगा। संतान होना तो दूर सब बर्बाद हो जाओगे। इसके बाद बलि के लिए चार शहर का नाका पर किराये के मकान पर रहने वाली लक्ष्मी उर्फ अनीता की बलि के लिए चिन्हित किया था और इसी तरीके से बेटू भदौरिया के घर ले जाकर उसकी बलि दी गई थी।

मुरैना पुलिस ने महिला का शव मिलने की पुष्टि की

मीनू की हत्या की पुष्टि करने के लिए मुरैना पुलिस से संपर्क करने पर इस बात की पुष्टि हुई कि बीहड़ में एक 40 साल की महिला का शव मिला था। जिसकी पहचान नहीं हुई है। महिला की गला दबाकर हत्या की गई थी। हत्या व हत्या के साक्ष्य मिटाने का मामला अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज है। पहचान नहीं होने पर शव को दफना दिया है।

Posted By: anil.tomar