Gwalior Crime News: बलि के लिए गैंग ऐसी महिलाओं को टारगेट करती थी, जिनके आगे पीछे कोई नहीं होता था

Updated: | Mon, 25 Oct 2021 10:08 AM (IST)

Gwalior Crime News: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। संतान प्राप्ति के लिए महिलाओं की बलि देने वाली गैंग को रिमांड पर लेने के बाद पुलिस लगाताार पूछताछ कर रही है। पुलिस ने आरोपित नीरज परमार की सुरागदेही पर मृतका नीरू का मोबाइल बरामद कर लिया है। यह मोबाइल आरोपित ने मोतीझील पर स्थित एक रिपेयरिंग वाले को दे दिया था। पुलिस के टारगेट पर मूल रूप से बाबा है। पुलिस उससे मनोवैज्ञानिक रूप से पूछताछ कर उगलवा रही है। इस तरह का कृत्य उसने इससे पहले तो नहीं किया। आरोपित फिलहाल पुलिस के सामने मुंह बंद कर बैठा है। पुलिस भी मान रही है कि यह गैंग काफी शातिर व चालक है। बलि देने के लिए ऐसी महिलाओं को टारगेट करती थी। जिनके गायब होने की सूचना पुलिस तक नहीं पहुंच सके।

लक्ष्मी का शव अंतिम संस्कार तक करने से इंकार कर दिया था

अकेली रहने वाली लक्ष्मी उर्फ आरती मिश्रा का पति से तलाक हो चुका है। बहोड़ापुर में उसका भाई रहता है। मायका पक्ष के लोग भी लक्ष्मी की गलत रास्ते पर चलने के कारण कोई संबंध नहीं रखते थे। पुलिस के बुलाने पर भाई ने लक्ष्मी के शव की पहचान तो कर दी, लेकिन पुलिस को साफ शब्दों में बता दिया कि उसका आरती से लंबे अरसे कोई संबंध नहीं है। हम लोग तो उसे पहले से मृत मानते हैं। पति का भी यही कहना था कि तलाक देने के बाद उसका आरती से कोई संबंध नहीं है। वह उसका चेहरा तक देखना नहीं चाहता है। दोनों परिवारों ने आरती का शव अंतिम संस्कार करने के लिए लेने से तक से इंकार कर दिया था। पुलिस बमुश्किल एक नजदीकी रिश्तेदार को तलाश कर उसे आरती के अंतिम संस्कार के लिए राजी किया।

मीनू के गायब होने तक की सूचना पुलिस को नहीं दी

नवमी (गुरुवार) को मीनू उर्फ नीरू का शव मुरैना जिले के सरायछोला थाना क्षेत्र में पीपल खेड़ा के बेहड़ में नग्न अवस्था में पड़ा मिला था। उसके कपडे़ एक साइड उतरे पड़े थे। शव के पास ही शराब का क्वार्टर व कोल्डड्रिंक की खाली बोतल पड़ी थी। महिला की हत्या गला घोटकर की गई थी। सरायछोला थाना पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला भी दर्ज कर लिया। पहचान नहीं होने के कारण महिला की लाश को लावारिसों में दफना दिया। आरोपितों द्वारा मीनू की हत्या कबूल करने पर पुलिस अधिकारियों ने हजीरा थाने का गुमशुदगी का रजिस्टर्ड चेक किया। मीनू उर्फ नीरू की कोई गुमशुदगी दर्ज नहीं थी। क्योंकि नीरू के अपने प्रोफेशन से जुड़े लोगों के अलावा किसी कोई संबंध नहीं थे। पुलिस अब मृतका के नजदीकी लोगों की तलाश कर रही है।

Posted By: anil.tomar