HamburgerMenuButton

Gwalior Emergency Day News: काला मास्क पहना, बांधी पट्टी, मनाया काला दिवस

Updated: | Fri, 25 Jun 2021 05:15 PM (IST)

Gwalior Emergency Day News: ग्वालियर.नई दुनिया प्रतिनिधि। आपातकाल के समय की गई लोकतंत्र की हत्या और दमन को लेकर 25 जून को काला दिवस मनाया गया। इस अवसर पर लोकतंत्र सेनानी संघ द्वारा काला मास्क पहनकर और हाथ पर काली पट्टी बांधकर काला दिवस मनाया गया। कोविड नियमों का पालन करते हुए काला दिवस फूलबाग पर मनाया गया। काला दिवस के पहले दिन वक्ताओं ने कहा कि 1975 से 77 के बीच देश में तानाशाही शासन चलाकर लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाई गईं। 25 और 26 जून 1975 की रात को एक लाख 10 हजार से ज्यादा राजनेताओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं को अकारण ही जेल में ठूस दिया गया था उस समय प्रेस पर भी सेंसरशिप लागू कर दी गई थी। लोकतंत्र सेनानी संघ के राष्ट्रीय सचिव मदन बाथम ने बताया कि काला दिवस के पहले दिन फूलबाग चौराहे पर सबसे पहले महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। इस अवसर पर दिवगत लोकतंत्र की विधवाओं को तत्काल पेंशन देने की मांग की गई। इन विधवाओं को चार माह से पेंशन नहीं मिली है। 26 जून को काली पट्टी बांधकर मौन व्रत रखा जाएगा। मौन व्रत के बाद पश्चिम बंगालों में सुनियोजित रूप से हो रही हिंसा के विरोध में कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया जाएगा। संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मोहन विटवेकर इस कार्यक्रम के प्रभारी होंगे। राष्ट्रीय सचिव बाथम ने कहा कि इस समय देश कोरोना महामारी के कारण गंभीर संकट के दौर से गुजर रहा है, इसके चलते किसान नेताओं को अपना आंदोलन वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री किसानों से आधी रात में भी बात करने को तैयार हैं।

Posted By: anil.tomar
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.