Gwalior Faceless service News: फेसलेस सेवा शुरू, ग्वालियर में पहले दिन बने 28 लर्निग लाइसेंस

Updated: | Tue, 03 Aug 2021 04:32 PM (IST)

इंदौर में 48, भोपाल में 52 और जबलपुर में 8 फेसलेस लर्निंग लाइसेंस जारी किए

Gwalior Faceless service News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। प्रदेश में सोमवार से फेसलेस लर्निंग लाइसेंस सेवा की शुरुआत हो गई। परिवहन विभाग आयुक्त व कलेक्टर ने आइआइटीटीएम सभागार में इस सेवा का शुभारंभ किया। पहले दिन ग्वालियर में 28, इंदौर में 48, भोपाल में 52 और जबलपुर में 8 फेसलेस लर्निंग लाइसेंस जारी किए गए, जबकि पूरे प्रदेश में 1953 लर्निंग लाइसेंस जारी हुए। इन लोगों को घर बैठे ही लर्निंग लाइसेंस मिल गए। इस सेवा के शुरू होने से प्रदेश में 11 लाख लोगों को क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय जाने की जरूरत नहीं है।

आयुक्त मुकेश जैन ने कहा कि लाइसेंस प्राप्त करने की पहली सीढ़ी लर्निंग लाइसेंस है। इसके लिए प्रदेश का युवा लाइन में न लगे, उसको लेकर फेसलेस लर्निंग लाइसेंस सेवा शुरू की गई है। लाइसेंस को आधार से लिंक किया गया है। इसमें दोनों विकल्प दिए हैं। जिनके पास आधार नहीं है तो वह कार्यालय जाकर लाइसेंस बनवा सकते हैं। जिनके पास आधार है, वह घर बैठे लाइसेंस प्राप्त कर सकते हैं। शुभारंभ अवसर पर कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, अपर आयुक्त अरविंद सक्सेना सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। इस दौरान जानवी सिंह व रिया यादव को फेसलेस लर्निंग लाइसेंस जारी किया गया।

यह सेवाएं सितंबर से आनलाइन

परिवहन विभाग अपनी चार सेवाओं को आनलाइन कर रहा है। लर्निंग लाइसेंस सेवा आनलाइन हो चुकी है। 1 सितंबर से लाइसेंस नवीनीकरण, डुप्लीकेट लाइसेंस, लाइसेंस पर पता परिवर्तन की व्यवस्था भी आनलाइन होगी। शुल्क: लर्निंग लाइसेंस बनवाने में 350 रुपये की आनलाइन फीस जमा होती है। यदि व्यक्ति भारी वाहन का लाइसेंस लेता है तो उसे मेडिकल सर्टिंफिकेट लगाना होगा।

लाइसेंस पाने की प्रक्रिया: आवेदक को विभाग की वेबसाइट पर जाना होगा। आनलाइन सर्विस मेन्यु के अंतर्गत ड्राइविंग लाइसेंस सर्विस का चयन करना होगा। इसमें सारथी सर्विस पोर्टल के होम पेज पर जाना होगा और लर्निग लाइसेंस का चयन करना होगा। लर्निग लाइसेंस एप्लाई करने के लिए दो आप्शन आएंगे। एप्लीकेंट होल्ड आधार व एप्लीकेंट डज नोट होल्ड आधार। घर बैठे लाइसेंस प्राप्त करने के लिए एप्लीकेंट होल्ड आधार का चयन करना होगा। आधार से आधा फार्म स्वत: भर जाएगा।

आधार नंबर दर्ज करने के बाद मोबाइल पर ओटीपी आएगा। ओटीपी उसी नंबर पर आएगा, जो नंबर आधार में दर्ज है।ओटीपी दर्ज करने के बाद जानकारी भरनी होगी।

लर्निग लाइसेंस टेस्ट के लिए एसएमएस के माध्यम से पासवर्ड प्राप्त होगा। 20 में से 12 प्रश्नों के उत्तर सही देने होंगे। 20 प्रश्न यातायात से संबंधित होंगे।़नि ़ाप्रोसेस पूरी होने के बाद लर्निंग लाइसेंस का प्रिंट निकाल सकते हैं।

Posted By: anil.tomar