Gwalior Family Court News: 60 दिनों में 41 मीडिएटर्स ने 1436 में से 910 मामले निपटाए

Updated: | Fri, 24 Sep 2021 07:30 AM (IST)

Gwalior Family Court News: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। तीन जिलों में पारिवारिक झगड़ों को सुलझाने के लिए शुरू किया गया आन लाइन मीडिएशन का पालयट प्रोजेक्ट पूरा हो गया। 60 दिन में 41 मध्यस्थों (मीडिएटर्स) ने आन लाइन माध्यस्था कर 910 परिवारों को टूटने से बचा लिया और उन्हें फिर से मिला दिया। आन मीडिएशन की सफलता 63.34 फीसद रही। छोटी बातों को लेकर पति-पत्नी में जो कड़वाड़ आ आ गई थी, उसे दूर किया गया।

राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण पुलिस विभाग व तकनीकि सहयोगी सामा के साथ मिलकर दो माह के लिये ऊर्जा पायलट प्रोजेक्ट प्रारंभ किया था। ग्वालियर, भोपाल, जबलपु में इसे शुरू किया गया। इसमें पुलिस थाना ऊर्जा महिला डेस्क पर आए घरेलू विवादों को आन लाइन निपटाने की प्रक्रिया शुरू की गई थी। इसके लिये राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से 41 मध्यस्थों को नियुक्त किया गया था। वहीं तकनीकि सहयोगी सामा की ओर से मध्यस्थों की मदद के लिए 40 केस प्रबंधकों की नियुक्ति की गई थी। ग्वालियर, भोपाल, जबलपुर के 97 पुलिस थानों में 4215 घरेलू हिंसा के मामले (केस) आए। इसमें 1436 मामलों आन लाइन मध्यस्था की गई। इसमें 910 मामलों का निराकरण किया गया। इसका सफलता प्रतिशत 63.34 रहा। ये प्रोजेक्ट 19 जुलाई से 15 सितंबर तक चला। आन लाइन विवाद निपटाने में सहयोगी बनी तकनीकि संस्था सामा ने टाप 5 मीडिएटर्स की सूची जारी की है। इसमें शाहिद मोहम्मद, संदीप नेमा, मनीषा शुक्ला, लालाराम मीना व अंशुमान शर्मा को शामिल किया गया है।

बच्चे याद आए तो एक हुए पति-पत्नी

मेम मुझे अपने 3 साल के बच्चे की बहुत याद आ रही है,मेरा समझौता करा दो। ये बात पक्षकार रिया शर्मा (परिवर्तित नाम) ने फोन पर मीडिएटर ज्योति शर्मा से कही। उसने आगे बताते हुए कहा कि मेरा पति से झगड़ा हो गया था, तो मैं गुस्से में घर छोड़ कर चली आई। लेकिन अब मैं समझौता करना चाहती हूँ। वहीं पति ने कहा कि पत्नी उनके पिता से बुरा-भला बोल कर गए थे, इसलिये वो अब उसे लेने ससुराल नहीं जाएगा। मीडिएटर ज्योति शर्मा ने कहा कि आप जब आवेदन पर हस्ताक्षर करने थाने आओगे तो अपनी पत्नी को फोन कर देना। वो भी थाने साइन करने आ जाएगी। और समझौते पर हस्ताक्षर होने के बाद आप उसे थाने से ही घर ले आना। इस तरह दोनों पक्षों में समझौता हो गया।

फैक्ट फाइल

कुल केस आए--4215

सुनवाई में आए--1436

समझौते हुये--910

सफलता प्रतिशत में--63.34

ग्वालियर में समझौते--217

जबलपुर में समझौते--478

भोपाल में समझौते-- 215

Posted By: anil.tomar