Gwalior Health News: जेएएच की खराब लिफ्ट काे सही करने में लगे दाे दिन, मरीजाें काे मिली राहत

Updated: | Mon, 02 Aug 2021 03:56 PM (IST)

Gwalior Health News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जयारोग्य अस्पताल की खराब पड़ी लिफ्ट रविवार को ठीक हो गई। दो दिन से मरीज परेशान हो रहे थे। मरीजों को स्ट्रेचर या फिर अटेंडेंट पीठ पर लादकर नीचे से दूसरी व तीसरी मंजिल तक ले जा रहे थे। प्रबंधक डा अनिल मेवाफरोस का कहना है कि बिजली की समस्या के कारण लिफ्ट का संचालन ठीक से नहीं हो पा रहा था। इसके बाद इंजीनियराें की टीम आई और उन्हाेंने समस्या का समाधान निकाल दिया जिसके बाद लिफ्ट ठीक से चलने लगी। गौरतलब है कि गुरुवार की रात को लिफ्ट में वृद्धा चार घंटे फंसी रही थी। इसके बाद शुक्रवार को लिफ्ट सुधरवाने का प्रयास किया गया, पर वह चालू तो हुई, लेकिन थाेड़ी देर बाद ही फिर बंद हाे गई। दाे दिन की मेहनत के बाद रविवार को लिफ्ट ठीक हो सकी। गाैरतलब है कि जेएएच में कुछ समय पहले ही नई लिफ्ट लगवाई गई है, जिससे मरीजाें काे परेशानी नहीं झेलना पड़े।

उल्टी दस्त व डायरिया बच्चों के लिए घातकः ग्वालियर अकादमी आफ पीडियाट्रिक द्वारा ओआरएस सप्ताह मनाया गया। इसके तहत रविवार को आनलाइन परिचर्चा रखी गई। अकादमी के अध्यक्ष डा प्रदीप जैन ने बताया कि इस परिचर्चा में एनजीओ के साथ आयुर्वेद, हेाम्योपैथी के डाक्टर, मेडिकल एमआर आदि सभी जुड़े। सभी ने अपने-अपने मत रखे। अकादमी की सचिव डा प्रियंका गुप्ता नीखरा का कहना था कि बच्चाें के लिए सबसे अधिक घातक इस मौसम में उल्टी, दस्त व डायरिया है। जिससे ओआरएस का घोल बचाता है। इसलिए बच्चों को ओआरएस का घोल अवश्य पिलाएं और बच्चाें को सुरक्षित रखें।

Posted By: vikash.pandey