Gwalior Health News: अब ड्रग इंस्पेक्टर का भी तबादला, दब गई नकली फैबिमैक्स की जांच

Updated: | Fri, 24 Sep 2021 08:56 AM (IST)

Gwalior Health News: वरुण शर्मा, ग्वालियर नईदुनिया। शहर में सप्लाई हुई नकली फैबिमैक्स टेबलेट मामले की जांच दब गई है। अब ड्रग इंस्पेक्टर का भी तबादला हो गया है। 14 जून को ड्रग इंस्पेक्टर ने टेबलेट का सैंपल जांच के लिए भेजा था, जिसकी अभी तक रिपोर्ट नहीं आई है। 68 दिन पहले सैंपल भेजे हो चुके हैं। इधर कलेक्टर के निर्देश पर गठित स्थानीय स्तर की जांच कमेटी ने भी कोई जांच रिपोर्ट नहीं दी है। इस कमेटी

में एसडीएम,सीएसपी और ड्रग इंस्पेक्टर को शामिल किया गया था। उधर एक कमेटी राज्य स्तरीय बनाई गई थी, उसकी भी रिपोर्ट का अता पता नहीं है। सभी जगह से नकली दवाओं का स्टाक मंगवाने के अलावा इस पूरे मामले में कुछ नहीं किया गया।

ज्ञात रहे कि महाराष्ट्र में नकली फैबिमैक्स टैबलेट पकडी गईं थी, जो कि मैक्स रिलीफ केयर कंपनी सोलन हिमाचल प्रदेश की कंपनी की थी। इन टैबलेट को सुदीप मुखर्जी ने तैयार किया था, जो कि ग्रेटर नोएडा में अवैध तरीके से दवा की फैक्ट्री चलाता था। सुदीप ने मेरठ से सात लाख रूपये की पैरासिटामोल खरीदी थी और इसे अपनी फैक्ट्री में ले जाकर कोरोना काल की जीवन रक्षक दवा फैबिमैक्स बना दिया। इस दवा पर सोलन हिमाचल प्रदेश की कंपनी का नाम लिखा गया। इसी कंपनी से मेडिलायड कंपनी ने दवा खरीदी और पूरे देश में इसकी सप्लाई हुई। ग्वालियर में भी चालीस हजार टैबलेट सप्लाई हुई। यह पहले महादेव मेडिकल पर आई, क्योंकि इसके पास सीएंडएफ है। महादेव मेडिकल ने पवन मेडिकल को सप्लाई दी थी। ड्रग इंस्पेक्टर ने महादेव मेडिकल से इस दवा का सैंपल जांच के लिए 14 जून को भेजा था, जिसकी अभी तक रिपोर्ट नहीं आई है।

Posted By: vikash.pandey