HamburgerMenuButton

Gwalior ICSI Result News: शहर से अनंत आनंद ने आलइंडिया रैंक 14 प्राप्त की,लॉकडाउन में इंटरनेट मीडिया से की पढाई

Updated: | Thu, 25 Feb 2021 06:21 PM (IST)

- आइसीएसआइ ने घोषित किया सीएस प्रोफेसनल और एग्जीक्यूटिव का परिणाम, विद्यार्थियों ने शेयर की स्ट्रेटजी

Gwalior ICSI Result News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। द इंस्टीट्यूट आफ कंपनी सेक्रेटरीज आफ इंडिया (आइसीएसआइ) ने गुरुवार को जारी किया सीएस प्रोफेशनल और एग्जीक्यूटिव दिसंबर 2020 का रिजल्ट। शहर से अनंत आनंद ने सीएस प्रोफेशनल दोनों ग्रुप क्लियर कर आलइंडिया रैंक 14 हासिल कर बढाया गौरव। विशेषज्ञ भूषण मोटवानी ने बताया यह परीक्षा जून 2020 में आयोजित होनी थी। लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते हुए लॉकडाउन के वजह से परीक्षा तिथि स्थगित कर 21 दिसंबर 2020 कर दी गई थी। सरकार के इस फैसले से विद्यार्थियों को फायदा और नुकसान दोनों का सामना करना पडा था। फायदा उनको मिला जिनका मई 2020 तक कोर्स का रीविजन पूरा नहीं हुआ था। वह इसका लाभ पाकर परीक्षा को क्वालिफाई कर सके।

सीएस बनने का आखिरी पढाव पार कर कंपनी सेके्रटरीज बने-

ऑल इंडिया रैंक 14 हासिल कर कंपनी सेके्रटरीज बनने का सपना पूरा हुआ। कोरोना के दौरान परीक्षा को लेकर कई उतार-चढावों को पार कर यह रैंक हासिल की है। मैंने 2018 में सीएस फाउंडेशन,2019 में सीएस एग्जीक्यूटिव परीक्षा अच्छे मार्क्स से पास की थी। लेकिन जून 2020 में सीएस प्रोफेशनल होने वाली परीक्षा पास करने का टारगेट पूरा नहीं हो पाएगा इससे काफी निराशा हुई। लेकिन खुद को मजबूत रखा। मेरे पिता अशोक आनंद और माता हिमशिका आनंद ने कमजोर होने नहीं दिया।

अनंत आनंद,सीएस प्रोफेशनल 515/900

मेरे परिवार में चार्टर्ड अकाउंटेंट तो हैं लेकिन मुझे सीए में नहीं सीएस में बनने में रूचि थी। एक कंपनी में मैंने कंपनी सेक्रेटरीज पोजिशन पर काम करते देखा था जिसने मुझे काफी प्रभावित किया। फिर सीएस की तैयारी शुरू की। हर लेवल पार करता रहा। जब आखिरी लेवल प्रोफेशनल का आया। जिसको पॉजिटिव लेते हुए तैयारी की और प्रोफेशनल लेवल अच्छे मार्क्स से क्वालिफाई कर सीएस बन गया।मेरे पिता रमेश छाबरा और माता सपना छाबरा ने मेरा काफी ध्यान रखा।

मोहित छाबरा,सीएस प्रोफेशनल 462/900

दूसरा लेवल पार कर सीएस प्रोफेशनल परीक्षा देंगे-

सीएस एग्जीक्यूटिव के दोनों ग्रुप क्लियर कर प्रोफेशनल परीक्षा की तैयारी में जुटेंगे। लॉकडाउन की वजह कोचिंग बंद हो गई थी। हार न मानते हुए सेल्फ स्टडी की हर दिन 14 से 15 घंटे पढाई करती रही। हर दिन टेस्ट सीरीज सॉल्व की और परीक्षा के एक महीने पहले 18 घंटे पढाई को दिया था। सीएस से जुडे यूट्यूब चैनल से अपने डाउट्स क्लियर किए। जब भी मैं परीक्षा को लेकर निगेटिव होती थी तब मेरे पिता मुकेश शर्मा(बिजनेस मेन), माता शकुंतला शर्मा ने पॉजिटिव रखा।

आयुषी शर्मा,सीएस एग्जीक्यूटिव 408/800

Posted By: anil.tomar
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.