gwalior morena chambal river flood news: चंबल नदी की बाढ़ में तीर का पुरा डूबा, कई घर ढहे, मवेशी भी बह गए

Updated: | Tue, 03 Aug 2021 03:01 PM (IST)

gwalior morena chambal river flood news: हरिओम गाैड़, ग्वालियर, मुरैना नईदुनिया। चंबल नदी किनारे बसे कैथोदा ग्राम पंचायत के तीर का पुरा गांव में आधी रात का बाढ़ आ गई। गांव के 25 से ज्यादा घर पानी में डूबे हुए हैं। जान बचाने के लिए ग्रामीणों ने रात में ही खाली किया गया। कुछ परिवार जरूरी सामान निकाल लाए, तो कई कच्चे घर ढह गए, जिसमें मवेशी व राशन-पानी दब गया। गांव के बाबूलाल का घर ढहने से उसकी दो बकरियां व घर का सामान मलबे में दब गया। किसान मुरारीलाल दो भैसों को निकालकर ला रहा था, लेकिन बाढ़ में दोनों भैंस बही चली गईं। मुरारी के घर का पूरा सामान बाढ़ में समाया हुआ है। लोग बाढ़ के बीच घरों का सामान निकालकर सुरक्षित स्थानाें पर जा रहे हैं। गांव के सरपंच हरिमोहन ने बताया कि रात से ही प्रशासन को खबर कर रहे हैं, लेकिन अब तक बचाव दल तो क्या कोई पटवारी तक गांव के हालात देखने नहीं आया।

चंबल नदी खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गई है। कलेक्टर बी कार्तिकेयन व एसपी ललित शाक्यवार, एनडीआरएफ टीम को लेकर चंबल नदी किनारे के गांवों में निरीक्षण काे निकले हैं। चंबल नदी के किनारे सबलगढ़, जौरा, अंबाह व पोरसा क्षेत्र में 80 से ज्यादा गांवों में अलर्ट है। चंबल किनारे के कई गांवों का रस्ता पानी में डूब गए हैं। उधर क्वारी नदी भी रौद्र रूप में है। क्वारी नदी के बहाव में कैलारस-सबलगढ़ के बीच नैपरी पुल की एप्रोच रोड में दरार आ गई, इस कारण सड़क से भारी वाहन बंद कर दिए गए हैं। नदियों की बाढ़ आमजन से लेकर मवेशी के लिए मुसीबत बन चुकी है। देवरी गांव में 15 से ज्यादा गांव चंबल नदी के उफान से एक टापू पर फंस गई हैं। उधर जौरा के पगारा डैम के टापू पर भी दो गाय फंसी हुई हैं।

Posted By: vikash.pandey