Gwalior Municipal Corporation News: गार्बेज टैक्स-भुगतान में मांगा व्यापारियों से सहयोग

Updated: | Mon, 20 Sep 2021 03:15 PM (IST)

Gwalior Municipal Corporation News: ग्वालियर (नप्र)। गार्बेज टैक्स के भुगतान में व्यापारी नगर निगम का सहयोग करें। क्योंकि भारत सरकार की गाइड लाइन के अनुसार प्रत्येक शहर की नगर निगम, नगर परिषद, नगरपालिका गार्बेज टैक्स एकत्रित कर सेल्फ स्टेबल मॉड्यूल बनाकर ही स्वच्छता की कल्पना कर सकती हैं। यह बात नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल ने रोटरी क्लब ऑफ ग्वालियर की नियमित साप्ताहिक सभा में मुख्य अतिथि के रूप कही। उन्होंने बताया कि ग्वालियर की आबादी के हिसाब से 14 करोड़ सालाना का गार्बेज टैक्स नगर निगम को मिलना चाहिए, यदि आप सभी व्यापारी वर्ग इस मुहिम में नगर निगम का सकारात्मक सहयोग करें तो सदन को मैं आश्वस्त करता हूं कि ग्वालियर भी स्वच्छता सर्वेक्षण में अव्वल ही आएगा।

उन्होंने बताया कि चीन में 16 कंपनियां कचरे का निष्पादन कर रही हैं। जो कि वहां के प्रशासन को कचरा उठाने के लिए पैसा भी देती हैं, क्योंकि वे कंपनियां कचरे के विभिन्न उत्पाद से मोटा मुनाफा कमाती हैं। स्वच्छता के लिए आज बड़े इन्वेस्टमेंट की आवश्यकता है, लेकिन एक बार खर्च करने के बाद यह सिर्फ फायदे का ही व्यवसाय है। आप लोगों में से कोई व्यापारी आगे आए तो ईको ग्रीन जैसी कंपनियों की जरूरत ही नहीं है। उन्होंने एनएचएआइ में काम के समय का अनुभव साझा करते हुए बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर जब एनएचएआइ को दिल्ली में बड़े कचरे के पहाड़ों को समाप्त करने के लिए कहा गया, तब उन्होंने आइआइटी दिल्ली के वैज्ञानिकों के साथ रिसर्च किया। तब पता चला कि कचरे को अलग-अलग कर 76 प्रतिशत कचरे से फ्लाई एश व 24 प्रतिशत कचरे से ऊर्जा का उत्पादन किया जा सकता है। फ्लाई एश का उपयोग एलीवेटिड रोड में लेयर में मिट्टी के साथ उपयोग किया जा सकता है ।

Posted By: anil.tomar