HamburgerMenuButton

Gwalior Municipal corporation News: ओडीएफ की हकीकत जानने निगम ने भेजी टीम, मिली लापरवाही

Updated: | Wed, 03 Mar 2021 08:08 AM (IST)

- लापरवाह वार्ड मॉनिटर, डब्ल्यूएचओ निलंबित, 21 को नोटिस

Gwalior Municipal corporation News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नगर निगम ने मंगलवार को अपनी तैयारियों का जायजा लेने अफसरों के रिस्पोंस टाइम को परखा। बिना बताए ओडीएफ एवं वाटर प्लस का निरीक्षण दल बनाकर एक टीम सर्वे के लिए शहर में भेजी गई। टीम ने शहर के कुछ स्थानों पर सर्वे किया। इसकी सूचना आग की तरह नगर निगम महकमे में फैल गई। इसके बाद भी अफसर एक्टिव मोड में दिखाई नहीं दिए। इसको लेकर निगमायुक्त ने दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया तो 21 को नोटिस थमा दिया। हालांकि शाम होते होते वरिष्ठ अधिकारियों ने खुलासा कर दिया कि आज कोई टीम नहीं आई थी, लेकिन स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के लिए टीम कभी भी दवे पांव आकर सर्वे कर सकती है। इसके लिए हम कितने अर्लट हैं यह देख्ाना था। हालांकि सर्वे टीम की खबर पाकर जिन शौचालयों में गंदगी पसरी थी वहां पर सफाई हो गई और जिन पर ताले पड़े थे वह भी खुल गए। इसके साथ ही वार्ड अधिकारी शाम तक टीम के इंतजार में व्यवस्थाओं को बनाने में जुटे रहे।

इस तरह हुआ सर्वे: मॉक ड्रिल की पटकथा सोमवार को निगमायुक्त शिवम वर्मा व अपर आयुक्त नरोत्तम भार्गव ने रच ली थी। इसलिए रात में ही अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए कि कल सर्वे टीम शहर में आ सकती है। इसलिए सुबह से सभी अपने-अपने क्षेत्र में निगरानी रखें। ओडीएफ टीम (नगर निगम की) सुबह पांच बजे शौचालयों पर पहुंची। वहां से वार्ड मॉनिटर को फोन पर शौचालयों की जानकारी मांगी, जो वह नहीं दे सके। टीम के आने की खबर मिलते ही वार्ड मॉनिटर व क्षेत्रीय अधिकारियों के बीच खलबली मच गई। इसके बाद सभी अपने-अपने घरों से बाहर निकले और शौचालय व जहां पर गंदगी पड़ी थी उसकी साफ सफाई कराने में जुट गए।

यहां पर यह मिली कमी

वार्ड 50- शौचालय में लीकेज था व वॉशबेसिन सही नहीं थे, रोशनी की व्यवस्था नहीं थी।

वार्ड 56- शौचालय के पास कचरा मिला

वार्ड 45- केयरटेकर व रजिस्टर नहीं मिला।

वार्ड 30-केयरटेकर नहीं था व टॉयलेट गंदा मिला।

यहां पर किया निरीक्षण: टीम ने सुबह ग्रामीण वार्डों का निरीक्षण किया। साथ ही बसंत टॉकीज, मिलेनियम प्लाजा, जिला अस्पताल, शताब्दीपुरम गेट नंबर 1 बैजाताल, कटोराताल, स्टेशन बजरिया और थाटीपुर का निरीक्षण किया।

शौचालयों में गंदगी मिली तो कहीं मिले ताले: नगर निगम के शौचालयों में गंदगी थी और सफाई भी नहीं थी। कई स्थानों पर टीम को शौचालयों पर ताले लटके मिले।

हकीकत पता करना थी: नगर निगम के अपर आयुक्त नरोत्तम भार्गव ने बताया कि किसी भी समय ओडीएफ व वाटर प्लस की टीम सर्वे के लिए आ सकती है। ऐसे में हमारी तैयारी किस स्तर की है, यह जानने के लिए मॉक ड्रिल कराई गई थी। इस सर्वे से हमारी कमियां और खुबियां दोनों सामने आ गईं। अब हम अपनी तैयारियों को और अधिक मजबूत कर सकेंगे। हालांकि वह इस बात का जवाब नहीं दे सके कि टीम में किन-किन लोगों को रखा गया था।

वर्जन

ओडीएफ की टीम नहीं आई थी, यह मॉक ड्रिल थी जिसमें हमने अपनी तैयारियों को देखा। जहां पर भी कमी रही उसे पूरा किया जाएगा। जिन लोगों की लापरवाही रही उन्हें कार्रवाई से गुजरना होगा।

शिवम वर्मा, निगमायुक्त

Posted By: anil.tomar
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.