HamburgerMenuButton

Gwalior news: गुरुगोविंद सिंह के 353वें प्रकाशउत्सव पर निकला नगर कीर्तन, आज से अखंड पाठ

Updated: | Mon, 18 Jan 2021 11:15 AM (IST)

- नगर कीर्तन मार्ग पर झाड़ू लगाकर किया पानी का छिड़काव, गुरुगोविंद सिंह को किया याद

ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। गुरु गोविंद सिंह जी का 353वां प्रकाश उत्सव 20 जनवरी को हर्षोल्लास व श्रद्धाभाव से मनाया जाएगा। सिख समाज ने प्रकाश उत्सव मनाने की तैयारियां पूरी कर ली हैं। रविवार को दोपहर दो बजे से प्रकाश उत्सव के अंतर्गत भव्य नगर कीर्तन निकाला गया। यह नगर कीर्तन फूलबाग गुरुद्वारा से शुरू हुआ, जो नदी गेट, जयेंद्रगंज, घोड़ा चौक, ऊंट पुल, पाटनकर बाजार, दौलतगंज, महाराजा बाड़ा, सराफा बाजार, गस्त का ताजिया, राम मंदिर, फालका बाजार, छप्पर वाला पुल, शिंदे की छावनी, एमएलबी रोड होते हुए रात करीब नौ बजे फूलबाग पहुंचा। नगर कीर्तन में हमेशा की तरह खासा अनुशासन देखने को मिला।

श्रद्धालुओं के पैर में कंकड़ न चुभें, इसलिए कीर्तन जुलूस के आगे सड़क पर झाड़ू लगाई जा रही थी, साथ ही पानी का छिड़काव कर सड़क को धोया जा रहा था। पारंपरिक परिधान में सैंकड़ों श्रद्धालु नगर कीर्तन में शामिल हुए। युवाओं के साथ ही सिख समाज की महिलाएं व बच्चों ने भी बड़ी संख्या में उपस्थित होकर उत्साहित ढंग से कीर्तन में सहभागिता निभाई। इस दौरान श्रद्धालुओं ने गुरुगोविंद सिंह को याद किया। रास्ते भर भजन व कीर्तन जारी रहा। जगह-जगह कीर्तन जुलूस का श्रद्धालुओं द्वारा स्वागत किया गया। 500 से अधिक लोग नगर कीर्तन में शामिल रहे। गौरतलब है कि शहर के तमाम गुरुद्वारों में गुरुगोविंद सिंह का 353वें प्रकाश उत्सव के लिए विशेष सजावट की गई है। फूलबाग गुरुद्वारे पर भी विशेष विद्युत सज्जा की गई।

आज से शुरू होगा अखंड पाठ

श्री गुरुनानक देव गुरुद्वारा प्रबंध कमेटी, फूलबाग के अध्यक्ष एचएस कोचर, सचिव कृपाल सिंह ने बताया कि प्रकाश उत्सव के अंतर्गत 18 जनवरी से अखंड पाठ साहिब सुबह नौ बजे से शुरू हो जाएगा। 20 जनवरी को भोग श्री अखंड साहिब सुबह 8:30 बजे लगेगा। 19 जनवरी को शाम सात बजे से रात 9:30 बजे तक एवं 20 जनवरी को सुबह 10 से दोपहर 2:30 बजे तक कीर्तन दरबार सजेगा। जसविंदर सिंह (अमृतसर) एवं जसप्रीत सिंह हुजूरी रागी गुरुद्वारा फूलबाग कीर्तन जत्था के प्रमुख रहेंगे। प्रचारक हरप्रीत सिंह अलोगो (खडूर साहब), जितेंदर सिंह हजूरी ग्रंथी गुरुद्वारा फूलबाग होंगे। गुरुद्वारे में सुबह नौ से शाम सात बजे तक लंगर चलता है। प्रकाश उत्सव के अवसर पर यह अटूट लंगर और भी अधिक बड़े पैमाने पर लगेगा।

Posted By: anil.tomar
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.