HamburgerMenuButton

Gwalior News: ग्वालियर बायपास के लिए अधिग्रहित जमीन रक्षा मंत्रालय को मिली वापस

Updated: | Thu, 24 Jun 2021 09:58 AM (IST)

Gwalior News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्वालियर बायपास के लिए अधिग्रहित की गई जमीन रक्षा मंत्रालय को वापस मिल गई है। वर्ष 2011 में जब ग्वालियर बायपास बनना शुरू हुआ था तब नेशनल हाइवे अथॉरिटी आफ इंडिया ने इस जमीन को अधिग्रहित किया था। जमीन के बदले जमीन दिए जाने पर सेना के साथ सहमति बनी थी।

वर्ष 2016 में इस प्रोजेक्ट में अधिग्रहण को लेकर समन्वय करने वाले अधिकारी का स्थानांतरण हो गया था, इसलिए यह मामला अटक गया था। अब सेना व राजस्व अफसरों के समन्वय से ग्वालियर बायपास के पास ही चार ब्लाक में करीब आठ हेक्टेयर जमीन सेना को वापस मिल गई है।ज्ञात रहे कि जिले में ग्वालियर बायपास का प्रोजेक्ट 2011 में आया था। एनएचएआइ ने प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए बायपास के रास्ते में आने वाली भूमियों को अधिग्रहित कर मुआवजा व भूमि के बदले भूमि दी थी। इसी बायपास में सेना की जमीन भी थी, जिसे बायपास के लिए अधिग्रहित की कार्रवाई की गई। सेना ने जमीन के बदले जमीन पर सहमति दी थी। इस मामले में अपर कलेक्टर आशीष तिवारी का कहना है कि ग्वालियर बायपास के लिए अधिग्रहित जमीन को रक्षा मंत्रालय को वापस दिया गया है। करीब आठ हेक्टेयर जमीन चार ब्लाक में दी गई है। प्रस्ताव कुछ समय से चल रहा था।

नाला निर्माण में बाधक बने अवैध निर्माण को तोड़ाः नगर निगम अमले द्वारा गांधी नगर क्षेत्र में चल रहे नाला निर्माण के कार्य में बाधक स्थाई अतिक्रमण को हटाया गया। गांधी नगर में नाला निर्माण का कार्य चल रहा है। इस निर्माण कार्य के दौरान बीच में एक अस्थाई मकान बना हुआ था, निगम के मदाखलत अमले ने जेसीबी एवं कर्मचारियों की मदद से इस अवैध निर्माण को तोड़ दिया। इस दौरान सहायक सिटी प्लानर सतेंद्र यादव, कलस्टर अधिकारी प्रमोद चौहान, भवन अधिकारी पवन शर्मा, आदि मौजूद थे।

Posted By: vikash.pandey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.