Gwalior Political News: अंचल में पार्टी की एकजुटता का संदेश देने में कामयाब रही सिंधिया की स्वागत यात्रा

Updated: | Thu, 23 Sep 2021 07:58 PM (IST)

Gwalior Political News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्वालियर-चंबल अंचल में भाजपा के दिग्गज नेताओं की एकजुटता को लेकर कांग्रेस लगातार हमलावर रही है। कांग्रेस यह आरोप लगाती रही है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने के बाद अंचल के भाजपा नेताओं के बीच प्रभुत्व को लेकर शीत युद्ध छिड़ गया है। कांग्रेस के इन हमलों के बीच सिंधिया की 60 किलोमीटर लंबी स्वागत यात्रा भाजपा में एकजुटता का संदेश देने में कामयाब रही है। इस यात्रा में पार्टी की प्रथम पंक्ति के नेता केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर व अंचल के सांसदगण स्वागत यात्रा में मौजूद थे। इसके अलावा पूर्व मंत्री व विधायकों के साथ दूसरी पंक्ति के नेता भी यात्रा के अभिभावदन के लिए सड़कों पर सुबह से लेकर रात तक नजर आए। यात्रा से दूसरा संदेश यह प्रतिध्वनित हुआ कि संगठन में सिंधिया की सर्वमान्य नेता के रूप में सहमति है।

कांग्रेस समय-समय पर अपने प्रदेश के प्रमुख नेताओं को अंचल में भेजकर भाजपा के खिलाफ माहौल बनाने का प्रयास करती है। उनके नेताओं का आरोप होता है कि जब से सिंधिया भाजपा में आए तब से संगठन में कुछ ठीक नहीं चल रहा है। अंचल के राजनीतिक क्षितिज पर अपना प्रभुत्व जमाने गुटबाजी चरम पर है। पार्टी की विचारधारा के प्रति समर्पित कार्यकर्ता नए नेताओं की पालकी उठाने के लिए तैयार नहीं हैं। स्वागत यात्रा से एक दिन पहले पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा को मुरैना पहुंचाकर हल्ला बोल का अघोषित कार्यक्रम कराया गया। वर्मा ने सिंधिया के गढ़ में बयान दिया कि 15 दिन में प्रदेश से शिवराज सिंह की छुट्टी हो जाएगी। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व ग्वालियर के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट व ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने इस बयान को हवा में उड़ा दिया। मंत्री तोमर का कहना था कि सपने देखने में क्या हर्ज है।

पहली व दूसरी पंक्ति के नेताओं ने दिया एकजुटता का संदेश

केंद्र सरकार में नागरिक उड्डयन मंत्री का दायित्व संभालने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया बुधवार को पहली बार गृह नगर ग्वालियर आए। इस दौरान चंबल पुल (धौलपुर) से महाराज बाड़े और फिर महल गेट तक 60 किलोमीटर निकली स्वागत यात्रा से भाजपा के पहली व दूसरी पंक्ति के नेताओं ने कांग्रेस के रणनीतिकारों को फिलहाल तो खामोश कर दिया है। केंद्रीय मंत्री तोमर धौलपुर से शहर की सीमा तक यात्रा में मौजूद रहे। इसके अलावा भिंड-दतिया सांसद संध्या राय व गुना-शिवपुरी सांसद केपी सिंह यात्रा में सिंधिया के साथ रहे। वहीं जिले की सीमा पर सासंद विवेक नारायण शेजवलकर ने प्रभारी मंत्री, ऊर्जा मत्री के अलावा राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह मौजूद थे। वहीं दूसरी पंक्ति के नेता जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी, कौशल शर्मा, पूर्व मंत्री माया सिंह, अनूप मिश्रा सहित कई नेता यात्रा में सिंधिया के साथ मौजूद थे। इनके अलावा पूर्व साडा अध्यक्ष राकेश जादौन, पूर्व जीडीए अध्यक्ष अभय चौधरी व मंडल से लेकर बूथ कार्यकर्ता तक स्वागत यात्रा में रहे।

Posted By: anil.tomar