Gwalior Vaccination News: नहीं बुक हुए स्लॉट ताे शुरू कराया आनस्पाट वैक्सीनेशन, अब तक केवल गांव में थी सुविधा

Updated: | Sat, 31 Jul 2021 10:41 AM (IST)

Gwalior Vaccination News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना की वैक्सीन लगवाने के लिए लोग आनलाइन पंजीयन नहीं कर रहे हैं। इस कारण से अब स्वास्थ्य विभाग ने आनस्पाट टीका लगाने के निर्देश दे दिए हैं। शनिवार को 68 केंद्रों पर 24770 लोगाें को टीका का पहला व दूसरा डोज लगाने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें 8450 डोज को-वैक्सीन के लगाए जाएंगे। शहरी क्षेत्र में बनाए गए केंद्रो पर टीका लगवाने के लिए शुक्रवार को आनलाइन पंजीयन के साथ स्लाट बुक करने के लिए साइट खोली गई। सुबह से लेकर शाम तक महज 50 फीसद लोगाों ने ही स्लाट बुक कराया। जब शाम तक स्लाट सौ फीसद बुक नहीं हुए तो आनस्पाट टीका लगाने के निर्देश दे दिए गए। अब कोई भी व्यक्ति किसी भी केंद्र पर सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे के बीच में आनस्पाट टीका लगवा सकेगा। शुक्रवार टीका लगवाने पहुंची गर्भवती महिलाओं को इंटरनेट की समस्या के चलते टीका के लिए इंतजार करना पड़ा। शुक्रवार को गर्भवती महिलाओं के अलावा सामान्य लोगों काे टीका लगाने के लिए केंद्र बनाए थे। जिन पर 4461 लोगों ने टीका का लाभ लिया। इसमें 71 गर्भवती महिलाएं शामिल हैं।

यह रही परेशानीः जयारोग्य अस्पताल के माधव डिस्पेंसरी में 57 नंबर कक्ष में गर्भवती महिलाओं को टीका लगना तय किया गया है, लेकिन सुबह 11 बजे तक इस कक्ष पर ताला पड़ा रहा। इस कारण से महिलाओं को इंतजार करना पड़ा तो कुछ बिना टीका के ही वापस लौट गईं। जब 11 बजे के बाद कक्ष खुला तब कुछ महिलाओं को टीका का लाभ मिल सका। इधर मुरार प्रसूतिगृह में नेटवर्क की परेशानी के चलते गर्भवती महिलाओं को घंटो इंतजार करना पड़ा और कुछ तो बिना टीका लगवाए ही वापस लौट गई।

कहां पर कितनी गर्भवती को मिले टीकेः

स्थान टीका

भितरवार 00

मोहना 11

हस्तिनापुर 16

प्रसूतिगृह मुरार 15

बिरला नगर प्रसूतिगृह 15

माधव डिस्पेंसरी 14

नोट: 4389 लोगों ने पहला व दूसरे डोज का टीका लगवाया।

जल्द मिलेगा स्पूतनिक की टीकाः ग्वालियर में किलकारी अस्पताल में माइनस 25 डिग्री तापमान पर वैक्सीन रखने के लिए हैदराबाद से फ्रीजर आ चुका है। अस्पताल संचालक डा राहुल सप्रा का कहना है कि स्पूतनिक वैक्सीन के डोज भी अगले एक सप्ताह में मिल जाएंगे। जिसके बाद आमजन को स्पूतनिक का टीका मिल सकेगा। इस टीका की कीमत को-वैक्सीन से कम और कोविशील्ड से अधिक रहेगी।

वर्जन-

आनलाइन स्लाट पूरी तरह से बुक नहीं हो रहे हैं। ऐसे में सभी से यह उम्मीद भी नहीं की सकती कि सभी लोग मोबाइल फ्रेंडली हो। इसलिए जो भी टीका लगवाने के लिए केंद्र पर पहुंचता है तो उसे टीका दिया जाए यह निर्देश दे दिए गए हैं।

डा रामकुमार गुप्ता, टीकाकरण अधिकारी

Posted By: vikash.pandey