Gwalior Weather Report: सुबह से छाए बादल, शाम तक दे सकते हैं गर्मी से राहत, जानें कब हाेगी बारिश

Updated: | Fri, 24 Sep 2021 08:49 AM (IST)

Gwalior Weather Report: बलबीर सिंह, ग्वालियर नईदुनिया। राजस्थान में बना चक्रवातीय घेरा ग्वालियर-चंबल संभाग के नजदीक आ रहा है, जिससे शुक्रवार को सुबह से बादल छाए हुए हैं। बादलों के चलते उमस भरी गर्मी हो रही है। दोपहर में धूप निकलने के आसार रहेंगे। शाम को झमाझम बारिश हो सकती है। यह बारिश 26 अ्क्टूबर तक संभावित है। उसके बाद दूसरा सिस्टम आ रहा है, उस सिस्टम से भी बारिश संभावित है। 10 अक्टूबर के बाद मानसून विदा हो जएगा।

मानसून सीजन की शुरुआत 1 जून से होती है और 30 सितंबर तक रहती है। सितंबर के अंतिम सप्ताह में मानसून कमजोर पड़ने के बाद विदाई होने लगती हैं। बारिश घट जाती है, लेकिन इस बार वैसा नहीं हो रहा है। अंचल में मानसून समय पर आया, लेकिन जून व 18 जुलाई तक काफी कमजोर रहा। बारिश औसत से काफी पीछे रही। सूखे की आहट होने लगी थी, लेकिन इसके बाद ग्वालियर सहित अंचल में बारिश का दौर शुरू हुआ। जिससे सूखे का संकट खत्म हो गया। विदाई के वक्त भी मानसून के अच्छे बरसने के आसार बने हुए हैं। सितंबर के 6 दिनों में दो सिस्टम आ रहे हैं, जिससे बारिश संभावित है। राजस्थान का चक्रवातीय घेरा काफी मजबूत हो गया है। इससे अरब सागर से नमी मिल रही है। मानसून ट्रफ लाइन से भी बंगाल की खाड़ी से नमी आ रही है। इस कारण अच्छी बारिश के आसार बने हुए हैं।

25 को हो सकती है भारी बारिश

-बंगाल की खाड़ी से आया कम दबाव का क्षेत्र कमजोर पड़ने के बाद चक्रवातीय घेरे के रूप में बदल गया है। यह चक्रवातीय घेरा आगे बढ़ रहा है। राजस्थान में मजबूत चक्रवातीय घेरा है। उत्तर में शिफ्ट होने पर ग्वालियर के नजदीक आ जाएगा, जिससे 25 सितंबर को भारी बारिश हो सकती है।

-बंगाल की खाड़ी में एक चक्रवातीय घेरा बना हुआ है। यह मजबूत होकर 27 सितंबर को कम दबाव का क्षेत्र में बदल रहा है। यह मजबूत होकर आगे बढ़ेगा। सिस्टम का असर 26 सितंबर के बाद दिखने लगेगा।

- मानसून ट्रफ लाइन टीकमगढ़ से होते हुए राजस्थान जा रही है। मानसून ट्रफ लाइन के उत्तर में आने की संभावना है। इसके बारिश की संभावना बन रही है।

बारिश की स्थितिः

कुल औसत बारिश-665.7 मिमी

औसत बारिश- 725.6 मिमी

औसत से- 59.9 मिमी पीछे

Posted By: vikash.pandey