HamburgerMenuButton

Gwalior Weather Report: ये कैसा मानसून, शहरवासी गर्मी से बेहाल, वर्षा का इंतजार

Updated: | Tue, 22 Jun 2021 09:50 AM (IST)

Gwalior Weather Report: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। माैसम विभाग ने दाे दिन पहले मानसून की आमद की घाेषणा कर दी, इसके बाद बूंदाबांदी हुई ताे लाेगाें काे लगा कि शायद अब ताे गर्मी से निजात मिल ही जाएगी, मगर ये नहीं हुआ। बारिश ताे दूर आसमान से काली घटाएं तक गायब हैं, लाेग गर्मी से बेहाल हैं। उमस भरी गर्मी के कारण घराें में कूलर पंखे तक फेल हाे गए हैं।

बंगाल की खाड़ी सुस्त पड़ने लगी है। इससे पूर्वी मध्य प्रदेश सहित देश के अन्य हिस्सों में बारिश सुस्त पड़ने लगी है। नमी भी नहीं आ रही है। इसलिए ग्वालियर में स्थानीय प्रभाव से बारिश की संभावना कम होती जा रही है। जून के अंत तक ग्वालियर में झमाझम के आसार नहीं दिख रहे हैं। इस बार जून में पिछले साल की तुलना में कम ही बारिश के आसार हैं। जून में औसत का कोटा भी पूरा होने की संभावना नहीं दिख रही है। जिले में मानसून आए तीन दिन बीत गए, लेकिन अच्छी बारिश के लिए शहरवासी अब भी तरस रहे हैं। सोमवार को उत्तरी हवा ने बंगाल की खाड़ी व अरब सागर से आने वाली नमी को रोक दिया। इससे आसमान से बादल छंट गए और सूरज की तल्खी बढ़ने लगी है। दोपहर में उमस भरी गर्मी का सामना करना पड़ा। मौसम विभाग के अनुसार 24 घंटे में बारिश के आसार कम हैं। तापमान बढ़ने से उमस भरी गर्मी का सामना करना पड़ेगा। 19 जून को जिले में मानसून आगमन की औपचारिक घोषणा हो गई थी। इस घोषणा के बाद दो दिन में 63 मिली मीटर पानी बरस चुका है, लेकिन ग्वालियर शहर, डबरा, घाटीगांव, मुरार बारिश के लिए तरस गया है। गत दिवस खंड वर्षा दर्ज हुई। थाटीपुर पर पानी बरसा, लेकिन लश्कर सूखा रहा। पश्चिमी विक्षोभ अब कमजोर पड़ गया है। उत्तर पश्चिमी हवा का चलना शुरू हो गया है। इस हवा के चलने से हवा में नमी घट गई। नमी कम होने से दोपहर में बरसने वाले बादल भी नहीं छाए। आसमान साफ रहा।

Posted By: vikash.pandey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.