Karva Chauth 2021: करवाचौथ पर राशि अनुसार श्रृंगार करने व कपड़े पहनने से पति-पत्नी में बढ़ता है प्रेम

Updated: | Fri, 22 Oct 2021 08:42 AM (IST)

Karva Chauth 2021: विजय सिंह राठाैर, ग्वालियर नईदुनिया। हिंदू पंचांग के अनुसार आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि 24 अक्टूबर को करवा चौथ व्रत रखा जाएगा। इस दिन सुहागिन महिलाएं सूर्योदय से पूर्व सरगी खाकर पूरे दिन निर्जला और निराहार रहकर पति की लंबी आयु की कामना करती हैं। ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा ने बताया कि करवाचौथ पर राशि अनुसार श्रृंगार व कपड़े पहनने से पति-पत्नी के बीच प्रेम बढ़ता है।

इन राशियों के लिए यह होता है शुभकारी

-मेष राशि की महिलाएं करवा चौथ को लाल नेलपॉलिश, गोल्डन रंग की साड़ी, लहंगा या सूट पहनकर पूजा करें।

-वृषभ राशि की महिलाओं को सिल्वर बिंदी, चूड़ियां व सिल्वर रंग के वस्त्र धारण करना शुभ रहेगा।

-करवा चौथ के दिन मिथुन राशि की महिलाएं हरे रंग की चूड़ियां, हरि नेलपॉलिश, हरे रंग के वस्त्र धारण करें।

-कर्क राशि के लिए लाल व सफेद रंग की चूड़ियां, लाल कपड़े ,करवा चौथ के दिन शुभ रंग लाल है।

-सिंह राशि वालों के लिए लाल, ऑरेंज या गोल्डन रंग के वस्त्र, गोल्डन चूड़ियां, बिंदी शुभ माने जाते हैं।

-कन्या राशि की महिलाएं लाल, हरी या गोल्डन रंग की साड़ी पहनें, लाल हरी चूड़ियां व बिंदी लगाएं।

-तुला राशि की महिलाएं लाल, गोल्डन या सिल्वर रंग के वस्त्र धारण करें, सिल्वर बिंदी, लाल व सिल्वर चूड़ियां पहनें।

-वृश्चिक राशि की महिलाओं के लिए लाल रंग, महरून या गोल्डन रंग के कपड़े, इसी रंग का श्रृंगार कर पूजा कर सकती हैं।

-धनु राशि की महिलाओं को आसमानी या पीले रंग के वस्त्र, व श्रंगार कर सकती हैं।

-मकर राशि वालों के लिए नीला रंग शुभ माना जाता है, लाल व नीले का काम्बिनेशन वाले कपड़ों व श्रृंगार में कर सकते हैं उपयाेग।

-कुंभ राशि की महिलाएं नीले रंग या सिल्वर कलर के वस्त्र धारण करें व इसी रंग की चूड़ियां, बिंदी का प्रयोग कर सकती हैं।

-मीन राशि की महिलाएं पीले या गोल्डन कलर के कपड़े व श्रृंगार करें। मान्यता है कि ऐसा करने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होंगी।

नाेटः इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।

Posted By: vikash.pandey