आराेपित के पास से मिला था कट्टा, ग्वालियर काेर्ट ने सुनाई सजा, 2 वर्ष का सश्रम कारावास व 200 रूपये अर्थदंड

Updated: | Tue, 30 Nov 2021 10:53 AM (IST)

बलबीर सिंह, ग्वालियर नईदुनिया। जेएमएफसी निकिता पवार ने आरोपित प्रमोद को धारा 25(1-बी)(ए)आयुध अधिनियम में 2 वर्ष का सश्रम कारावास की सजा एवं 200 रूपये के जुर्माने की सजा सुनाई है। आराेपित काे कट्टे सहित गिरफ्तार किया गया था।

अभियोजन की ओर से पैरवी करने वाली सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी गायत्री गुर्जर ग्वालियर ने घटना के बारे मे बताया कि हस्तिनापुर थाना प्रभारी ग्वालियर को सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम बिलारा में बस स्टैंड के पास एक व्यक्ति कट्टा लिए किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहा है। पुलिस मौके पर पहुंची काे एक व्यक्ति पुलिस को देखकर भागने लगा, जिसे फोर्स की मदद से पकड़ लिया गया। पुलिस के पूछने पर आराेपित ने अपना नाम प्रमोद जाट पुत्र माटू उर्फ कृष्णपाल सिंह जाट उम्र 32 साल नि. ग्राम बिलारा होना बताया। तलाशी लेने पर कमर में 315 बोर का कट्टा व जिंदा कारतूस मिला तथा कोई वैध लाइसेंस नहीं होना पाया गया। आरोपित को मौके पर गिरफ्तार कर भादवि की धारा 25,27 आर्म्स एक्ट का प्रकरण पंजीबद्ध कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। अभियोजन की ओर से आरोपित को कड़ी से कड़ी सजा की मांग की गई। अभियाेजन पक्ष ने कहा कि अपराध पर अंकुश लगाने के लिए व समाज में संदेश देने के लिए कड़ी सजा दी जाए। आरोपित ने बचाव में कहा कि पुलिस ने उन्हें झूठा फंसाया है। सजा देने में नरमी बरती जाए। कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपित को 2 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 200 रूपये के जुर्माने की सजा सुनाई है।

Posted By: vikash.pandey