HamburgerMenuButton

Gwalior News: विधायक सिकरवार शव को देखकर चक्कर खाकर गिरे, बिरला अस्पताल में कराया गया भर्ती

Updated: | Fri, 27 Nov 2020 01:05 PM (IST)

सिविल जज की तैयारी करने वाले छात्र ने लगाई फांसी

मृतक परमार्शदाता महेंद्र शुक्ला का इकलौता बेटा था

ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि । कमलसिंह बाग में गुरुवार की शाम को सिविल जज की तैयारी कर रहे लाव्या शुक्ला ने साफी से घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक पुलिस के परामर्श केंद्रों में काउंसलर की भूमिका निभाने वाले महेंद्र शुक्ला का इकलौता पुत्र है। लाव्या की एक छोटी बहन और है। छात्र के फांसी लगाने का कारण अभी पता नहीं चल सका है। स्वजनों का कहना है कि घर में किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं थी। इंदरगंज थाना पुलिस छात्र के फांसी लगाने के कारण पता लगाने के लिए जांच कर रही है। महेश शुक्ला कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार से जुड़े हुए हैं। शाम को विधायक भी छात्र का शव लेकर डेड हाउस पहुंचे थे। जहां उनकी अचानक हालत बिगड़ गई। सतीश सिकरवार को रात में ही बिरला हॉस्पिटल में भर्ती कराया।

टीव्ही देख रहा था, अचानक कमरे में गया और फांसी लगा ली-

18 साल के लाव्या ने इंटर करने के बाद लॉ की तैयारी कर रहा था।उसका सपना सिविल जज बनने का था। गुरुवार की शाम को कमरे में बैठकर टीव्ही देख रहा था। छोटी बहन पढ़ रही थी। मां घर के कामकाज कर रही थी। महेंद्र शुक्ला विधायक सतीश सिकरवार के साथ डीडी नगर गए थे। अचानक मां को कमरे किसी वस्तु के गिरने की आवाज आई। दौड़कर कमरे में पहुंची तो लाव्या साफी से फांसी पर लटका हुआ था। शोर मचाकर पड़ोसियों को मदद के लिए बुलाया। कमरे में स्टूल में पड़ा था। इसी स्टूल पर खड़े होकर युवक ने फांसी लगाई है। पड़ोसियों ने गले में कसी साफी काटकर लाव्या को नीचे उतारा। बेहोशी की हालत में छात्र को इलाज के लिए अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। शुक्रवार की सुबह पुलिस ने छात्र के शव का डॉक्टरी परीक्षण कराया। शव को स्वजनों को सौप दिया है। पुलिस को छात्र के कमरे से कोई स्यूसाइड नोट भी नहीं मिला है। छात्र के आत्महत्या का कारण पता नहीं चल सका है।

कांग्रेस विधायक की हालत बिगड़ी- बेटे के फांसी लगाने की सूचना के समय महेंद्र शुक्ला कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार के साथ थे। विधायक भी महेंद्र के साथ अस्पताल पहुंच गए। नजदीकी समर्थक महेंद्र के बेटे का शव देखकर सतीश सिकरवार को अचानक चक्कर आ गए। उन्हें तत्काल इलाज के लिए बिरला हॉस्पिटल ले गए। सभी जांचे नॉर्मल आने पर सतीश सिकरवार को सुबह अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। डॉक्टर ने उन्हें आराम की सलाह दी है।

Posted By: anil.tomar
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.