Sawan Somwar 2021: सावन का दूसरा सोमवार कृतिका नक्षत्र में, सर्वोच्च राशि वृषभ में होगा चंद्रमा

Updated: | Sun, 01 Aug 2021 08:48 PM (IST)

Sawan Somwar 2021: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। श्रावण मास लगने के साथ ही शहर का माहौल भक्तिमय हो गया है। भलें कोरोना की वजह से पिछले साल की तरह इस साल भी कावड़ यात्रा की अनुमति नहीं है, लेकिन लोग गंगाजी लाकर भोलेनाथ का अभिषेक कर रहे हैं। वहीं श्रावण माह के दूसरे सोमवार को लेकर मंदिरों में विशेष तैयारी की जा रही हैं। ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि सावन महीने का दूसरा सोमवार कृतिका नक्षत्र में 2 अगस्त को पड़ेगा। इस दिन चंद्रमा अपनी सबसे ऊंची राशि वृषभ में होगा। यह योग ज्योतिष शास्त्र में काफी शुभ माना गया है। वृद्धि योग में होने से इसे काफी कल्याणकारी भी माना जाता है।

ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी ने बताया कि मान्यता है कि इस विशेष योग के चलते भगवान भोलेनाथ की पूजा और उपासना करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। यदि इस दिन व्रत करके महादेव का अभिषेक किया जाए तो शिव भक्तों की जिंदगी से सभी कष्ट दूर होकर भगवान भोलेनाथ की कृपा बरसती है। उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। गाैरतलब है कि इस बार सावन साेमवार खास हाेने वाला है, क्याेंकि भक्त अचलेश्वर मंदिर में गर्भ गृह में जाकर भगवान भाेलेनाथ के दर्शन कर सकेंगे।

उत्सव का माह है सावन : कजली तृतीया, स्वर्ण गौरी पूजा, कामिका एकादशी, नाग पंचमी, रक्षाबंधन, श्रावणी, ऋषि तर्पण, आदि पर्वों को अपने में समेटे यह सावन उत्सव का मास बन जाता है। यह सभी उत्सव उन्माद या उल्लास के कोलाहल से परे शांति और संतुलन के पर्व हैं। उत्सवों का जप, तप, योग, ध्यान, और शांति स्थापना में अपना एक महत्वपूर्ण योगदान है।

Posted By: vikash.pandey