HamburgerMenuButton

Gwalior Crime news: वधु के दादा ने की चूक और चोर पार कर ले गए गहनों का बैग

Updated: | Fri, 27 Nov 2020 01:25 PM (IST)

वधु का दादा बेला की रस्म से पहले बैग कुर्सी के पास रखकर नाश्ता करने लगे, चोरों ने पार किया

ग्वालियर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोटेश्वर मंदिर के पास स्थित निर्मल वाटिका में आयोजित शादी समारोह से चोर कुर्सी के पास रखा गहनों का बैग चोरी कर ले गए। चोरी गए बैग में वधु के 8 लाख रुपये कीमत के गहने बताए जा रहे हैं। पुलिस ने साढ़े पांच लाख के गहने चोरी जाने की पुष्टि की है। चोरी गए बैग में 16 तोले सोने के गहने थे। गहनों का बैग वधु के दादा की छोटी सी चूक के कारण चोरी हो गया। बेला की रस्म से पहले दादा पैरों के पास बैग रखकर बैठे थे। इसी बीच उन्हें कोई रिश्तेदार नाश्ते की प्लेट पकड़ा गया। दादा ने बैग कुर्सी के पास रख दिया। इसी बीच कोई बैग उठाकर गायब हो गया। किला गेट थाना पुलिस चोरों की पहचान के लिए वाटिका में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है।

कोटेश्वर मंदिर के पास रहने वाले महेश सिंह जादौन मूल रूप से सबलगढ़ जिला मुरैना के निवासी हैं। महेश सिंह जादौन आपीएफ में एएसआइ हैं। उनका बेटा आदित्य सिंह सीआइएसएफ में आरक्षक है। आदित्य का रिश्ता माधवगढ़ स्थित पचकुला जिला जालौन यूपी निवासी सतेंद्र सिंह भदौरिया की बेटी निशा के साथ तय हुआ था। बुधवार को कोटेश्वर मंदिर के पास स्थित निर्मल वाटिका में दोनों का विवाह हुआ। गुरुवार की सुबह फेरों के बाद बेला की रस्म की तैयारी चल रही थी। रिश्तेदार वाटिका में गु्रपों में कुर्सियों पर बैठे हुए थे। वधु के दादा उमराव सिंह गहनों का बैग अपनी गोद में रखकर बैठे थे। चूंकि घर के बुजुर्ग थे इसलिए गहने उनकी निगरानी में थे। बताया गया है कि उमराव सिंह जालौन में जनपद सदस्य भी रह चुके हैं।

नाश्ता करते समय गहनों का बैग कुर्सी के पास रख दिया-

दादा उमराव सिंह ने नाश्ता करते समय गहनों का बैग कुर्सी के पास रख लिया और नाश्ता करने लगे। आशंका है कि किसी ने पीछे से गहनों का बैग उठाया और वाटिका से निकल गया। बैग चोरी जाने से वाटिका में हड़कंप मच गया। चोरी की सूचना मिलते ही किला गेट थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस वाटिका व उसके आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है।

6 में से एक सीसीटीवी कैमरा चालू है-

पड़ताल के दौरान पता चला है कि वाटिका में निगरानी के लिए 6 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, लेकिन उनमें से केवल एक ही चालू है। उमराव सिंह के आसपास बैठे लोगों ने पुलिस को बताया कि उमराव सिंह के ठीक पीछे दो संदिग्ध युवक मुंह पर रूमाल बांधकर बैठे थे। इनकी उम्र 20 से 25 वर्ष बताई जा रही है। वर-वधु पक्ष ने एक दूसरे का रिश्तेदार समझकर इन संदिग्ध युवकों पर किसी ने गौर नहीं किया। आशंका है कि यही दोनों युवक गहनों का बैग चोरी कर ले गए।

Posted By: anil.tomar
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.