कर्मचारियों ने नहीं लगवाई दूसरी डोज, इंदौर में 23 प्रतिष्ठानों को किया सील

Updated: | Tue, 30 Nov 2021 10:19 AM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अपने कर्मचारियों को कोरोना के टीके की दूसरी डोज लगवाने में लापरवाही बरतने वाले व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के खिलाफ प्रशासन और नगर निगम ने कार्रवाई शुरू कर दी है। इसी सिलसिले में सोमवार को शहर के अलग-अलग इलाकों में 23 से अधिक प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई कर सील किया गया। इनमें कारखाने, शोरूम और बेकरी शामिल हैं। सांवेर रोड औद्योगिक क्षेत्र में रिलायबल स्टील्स का कारखाना सील कर दिया गया। यहां कारखाना मालिक और तीन कर्मचारियों को कोरोना की दूसरी डोज अब तक नहीं लगी है। यहां कार्रवाई के लिए तहसीलदार एचएस विश्वकर्मा, नायब तहसीलदार रीतेश जोशी की टीम पहुंची। देवगुराड़िया में तहसीलदार राजेश सोनी ने गिरीराज गोवर्धन बारदान कारखाने को सील किया। यहां 18 में से 8 कर्मचारियों को वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लगी थी।

खजराना क्षेत्र में ओलिंपिक आर्यन वर्कशाप के पांच कर्मचारियों को टीका नहीं लगा था। इस पर तहसीलदार सिराज खान ने वर्कशाप सील कर दिया। विजय नगर क्षेत्र में एसके बेकर्स के स्टाफ में काम कर रहे छह कर्मचारियों ने टीका नहीं लगवाया था। इस पर प्रशासन और नगर निगम की टीम ने बेकरी सील कर दी। सांघी के टोयोटा शोरूम में सात कर्मचारियों को कोरोना के टीके की दूसरी और एक कर्मचारी को पहली डोज भी नहीं लगी थी। इस लापरवाही पर शोरूम सील कर दिया गया। भंवरकुआं क्षेत्र में राणा मोटर्स भी सील किया गया। यहां के चार कर्मचारियों को वैक्सीन नहीं लगी थी।

माहेश्वरी स्वीट्स पर भी कार्रवाई

जोन नंबर 8 के एसआर कंपाउंड में सुपर काप केयर, रायल फर्नीचर, जोन नंबर 18 के शिरमी बुटीक कारखाने व कार शोरूम में काम करने वाले कर्मचारियों को दूसरी डोज नहीं लगी पाए जाने पर नगर निगम की टीम ने इन संस्थानों को सील कर दिया। जोनल अधिकारी अतीक खान ने नौलखा स्थित माहेश्वरी स्वीट्स पर जांच के दौरान पाया कि उनके यहां स्टाफ को दूसरी डोज नहीं लगी है। दुकान को सील कर दिया।

तो नहीं दिया जाएगा प्रवेश

इंदौर नगर निगम के जोनल कार्यालयों पर रात 10 बजे तक टीका लगवाने की व्यवस्था रखी गई है। इसके अलावा मोबाइल वेन में भी लोगों को टीका लगाया जा रहा है। निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने बताया कि शहर के विभिन्न संस्थानों, माल, दुकानों व रहवासी संगठनों ने आश्वस्त किया है कि जिन लोगों को टीके की दूसरी डोज नहीं लगी है, उन्हें कालोनी और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

... इधर बड़वानी जिले के पूरे स्वास्थ्य विभाग का वेतन रोका

वैक्सीन को लेकर प्रशासन इंदौर में ही नहीं पूरे संभाग में सख्त हो गया है। बड़वानी कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा ने बताया कि टीके का पहली डोज में हमारे जिले ने बेहतर कार्य किया था, लेकिन दूसरी डोज पिछड़े हैं। उन्होंने संतुष्टिपूर्ण कार्य ना करने पर जिले के पूरे स्वास्थ्य विभाग का वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा कि लापरवाही पाए जाने पर अन्य कर्मियों पर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Prashant Pandey