अवैध तरीके से दलाली खाने वालों पर जारी रहेगी कार्रवाई- इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह

Updated: | Wed, 20 Oct 2021 07:19 AM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कालोनियों में मकान और प्लाट बिकवाने वाले दलालों के लिए भी रेरा का पंजीयन जरूरी है। पर शहर में कई दलाल वैध और अवैध दोनों तरह की कालोनियों में डायरी व पर्ची पर प्लाट और मकान बिकवा रहे हैं। ऐसे दलालों के खिलाफ प्रशासन की कार्रवाई जारी रहेगी।

कलेक्टर मनीषसिंह ने मंगलवार को प्रेस क्लब में यह बात कही। पत्रकारों से चर्चा में उन्होंने कहा कि अवैध तरीके से कारोबार करने वाले कालोनाइजर और बिल्डर तो प्रशासन के निशाने पर हैं ही, लेकिन दलालों पर नियंत्रण भी जरूरी है। कलेक्टर ने शहर और जिले के विकास पर भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि शहर के पूर्वी हिस्से में भी रिंग रोड की योजना है। शहर के यातायात के लिए यह बहुत जरूरी है।

चर्चा में शामिल नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने शहर की विभिन्न इलाकों में बारिश का पानी भरने के सवाल पर कहा कि हमने सीवर लाइन और नाला टेपिंग पर तो काफी काम किया है, लेकिन अब स्टार्म वाटर लाइन पर काम किया जा रहा है। पहले चरण में अधिक परेशानी वाले इलाके लिए गए हैं। अगले चार-पांच साल में पूरे शहर का यह काम पूरा हो जाएगा। इसके बाद बदलाव नजर आएगा।

समाज के सहयोग से पुलिस बनाएगी नशा छुड़वाने का केंद्र

शहर में बढ़ते अपराधों पर डीआइजी मनीष कपूरिया ने चिंता व्यक्त की। साथ ही कहा कि नशाखोरी के कारण अपराधों में बढ़ोतरी हो रही है। इस पर हम नियंत्रण करने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। पुलिस नशा करके अपराध करने वालों पर कार्रवाई भी करती है लेकिन वे छूटकर आ जाते हैं और फिर अपराध करने लगते हैं। इस समस्या का समाधान पुलिस और प्रशासन के अलावा समाज के स्तर पर भी निकालने के प्रयास करने होंगे। नशीली चीजें कहां से आ रही हैं, हम इस पर भी काम कर रहे हैं।

डीआइजी ने कहा कि नशे की आदत छुड़वाने के लिए समाज के सहयोग से हम एक केंद्र बनाने की योजना पर भी काम रहे हैं। इसके लिए कुछ निजी कंपनियों से कारपोरेट सोशल रिस्पांसबिलिटी (सीएसआर) के तहत भी सहयोग लिया जाएगा।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay