Indore news: दस दिन निर्जला उपवास करने पर सोलह साल के जैनम को हाथी पर बैठाकर घुमाया

Updated: | Mon, 20 Sep 2021 10:05 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Indore news । शहर के पश्चिम क्षेत्र स्थित अंजनी नगर में पर्युषण पर्व में दस दिन निर्जला उपवास करने के लिए 16 साल के जैनम वैद का वरघोड़ा रविवार रात निकाला गया। उन्हें समाजजनों ने हाथी पर बैठाया। इस दौरान जगह-जगह समाजजनों द्वारा उनका स्वागत किया गया। पर्युषण के दौरान उन्होंने मोबाइल, टीवी का त्यागकर मौन साधना की थी। साथ ही पंच बालयति जैन मंदिर में दोनो समय पूजा अर्चना की।

पिता राजेश वैद ने बताया कि जैनम ने गणेश चतुर्थी से अनंत चतुर्दशी तक लगातार 10 दिन तक उपवास रखा। उन्होंने 400 बच्चों को जैन शासन व्यवस्था के सिद्धांतों की शिक्षा भी दी है। कोरोना काल के प्रारंभिक दौर मार्च 2020 से लेकर अब तक 475 विश्व शांति विधान भी पूरे किए हैं। जैनम का प्रवेश आस्ट्रेलिया की डेक्कन यूनिवर्सिटी मेलबोर्न में हो चुका है, जहां वह इंटरनेशनल बिजनेस की पढ़ाई के लिए जल्द ही जाने वाला है।

वरघोडे में विधायक संजय शुक्ला सहित विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता भी पहुंचे। अंजनी नगर जैन समाज के महावीर जैन ने बताया कि कोरोना प्रोटोकाल के चलते जुलूस को अंजनि नगर के कुछ क्षेत्रों में ही हाथी पर बैठाकर घुमाया गया अन्यथा समाजबंधुओं का आग्रह तो सभी जैन बाहुल्य क्षेत्रों में ले जाने का था ताकि जैनम की उम्र के अन्य बच्चे भी उसके इस संयम और त्याग से प्रेरणा ले सकें। चल समारोह के दौरान हर उम्र एवं हर धर्म के लोगों ने उनका स्वागत किया।

धर्मस्थलों के आसपास एक किलोमीटर तक प्रतिबंधित हो मांस, शराब का सेवन

आर्यावर्त षट्दर्शन साधु मंडल एवं आचार्य परिषद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक सोमवार को सिंधु भवन में हुई। इस अवसर पर दादू महाराज ने प्रदेश के सभी प्रमुख धर्मस्थलों के आसपास एक किलोमीटर में मांस, शराब के सेवन-विक्रय पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव रखा। कोविड-19 को देखते हुए भारत से सिर्फ राष्ट्रीय कार्यकारिणी के साधु संत उपस्थित हुए।

बैठक आचार्य परिषद के राष्ट्रीय संयोजक मां पीतांबरा पीठाधीश महंत रवींद्रदास महाराज की अध्यक्षता में हुई। इसमें राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष महामंडलेश्वर राम भूषणदास महाराज, राष्ट्रीय सहसचिव महंत लोकनाथ योगी महाराज, महंत पवन सूतदास, महंत हरिदास महाराज, महंत प्रेमदास महाराज उपस्थित थे। अंत में कोरोनाकाल में दिवंगत हो चुके साधु संतों, ब्राह्मणों को श्रद्धांजलि दी गई। संचालन अभिषेकानंद महाराज ने किया। आभार माधव इंदौरी ने माना।

Posted By: Sameer Deshpande