HamburgerMenuButton

Indore News: जीएसटी के विरोध में बंद का अहिल्या चैंबर ने किया विरोध

Updated: | Thu, 25 Feb 2021 03:27 PM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि) Indore News। बजट में किए गए जीएसटी और आयकर कानून के संशोधनों के खिलाफ 26 फरवरी को घोषित बंद पर शहर के व्यापारी दो धड़ों में बंट गए हैं। कंफेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने संशोधनों को वापस लेने की मांग के साथ बंद घोषित किया है। अहिल्या चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री ने एक पत्र जारी कर बंद का विरोध कर दिया। व्यापारिक संगठनों के बंटने से व्यापारी संशय में हैं। कैट की ओर से 8 फरवरी को ही भारत बंद की घोषणा कर दी गई थी। कैट ने अन्य व्यापारी संगठनों को साथ आने की अपील की थी। शहर के बाजारों में प्रभाव रखने वाले अहिल्या चैंबर ने मुद्दे पर 13 फरवरी को बैठक बुलाई थी। नए जारी पत्र में चैंबर ने इसी बैठक का हवाला दिया है। चैंबर ने बंद के विरोध की बात करते हुए कहा है कि बंद किसी समस्या का हल नहीं है। चैंबर ने कर कानूनों की विसंगतियों पर जनप्रतिनिधियों और मंत्रियों से बात कर हल निकालने का आश्वासन भी व्यापारियों को दिया है।

एसोसिएशनों की प्रतिस्पर्धा

व्यापारी कह रहे हैं कि बंद के मुद्दे पर मतभेद रखने वाले दोनों ही संगठन कर कानूनों को कठोर और अव्याहारिक मान रहे हैं। अलग-अलग रुख के पीछे असल में कहीं न कहीं संगठनों की प्रतिस्पर्धा जिम्मेदार है। कैट का अब तक शहर में कोई खास प्रभाव नहीं रहा है। अहिल्या चैंबर काफी पुरानी और बाजारों में प्रभाव रखने वाली संस्था है। अगर वह बंद के साथ हो जाती तो कैट को शहर में पैर जमाने का मौका भी मिल जाता, इसलिए 13 फरवरी की बैठक में भी बंद पर रायशुमारी पर सहजता नजर नहीं आई। हालांकि कैट के जिलाध्यक्ष मोहम्मद पीठावाला ने कहा कि प्रतिस्पर्धा जैसी बात गलत है। कानून का असर सभी व्यापारियों पर समान रूप से पड़ेगा इसलिए इसे वापस लेने की मांग पर सब एक हैं। ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन, अनाज व्यापारी जैसी कई संस्थाएं बंद का समर्थन भी कर रही हैं।

सीबीआइसी को दिया ज्ञापन

अहिल्या चैंबर ने कर कानूनों का विरोध दिल्ली तक पहुंचाने की बात कही है। चैंबर के अध्यक्ष रमेश खंडेलवाल और सुशील सुरेका के अनुसार मंदसौर से सांसद वहां के चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के संस्थापक अध्यक्ष सुधीर गुप्ता ज्ञापन लेकर दिल्ली पहुंचे। उन्होंने दिल्ली में सेंट्रल बोर्ड आफ इनडायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम (सीबीआइसी) के चेयरमैन अमीन कुरैशी से मुलाकात की। अहिल्या चैंबर की ओर से उन्हें ज्ञापन सौंपा। इसमें जीएसटी और आयकर में प्रस्तावित संशोधनों को वापस लेने की मांग की गई है।

Posted By: Sameer Deshpande
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.