एयर इंडिया और विस्तारा के पास टो बार नहीं

Updated: | Sat, 27 Nov 2021 07:00 AM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। देवी अहिल्याबाई होलकर अंतरराष्ट्रीय विमानतल पर उड़ानों का संचालन करने वाली दो कंपनियों एयर इंडिया और विस्तारा के पास टो बार ही नहीं है। इससे इनके विमान एयरोब्रिज का उपयोग ही नहीं कर पा रहे हैं। उनके विमान से यात्रियोें को टर्मिनल से लाने और वहां ले जाने के लिए बस का उपयोग करना पड़ रहा है। विमानतल प्रबंधन ने इस बारे में दोनों कंपनियों को व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।

जानकारी के अनुसार दुबई उड़ान के समय बुधवार को परेशानी का सामना करना पड़ा था। विमान उतरने के पहले तक यह तय नहीं हो पा रहा था कि आखिर विमान को एयरोब्रिज पर लाना है या एप्रिन में लाया जाएगा। विमानतल प्रबंधन ने बताया कि मुख्यालय के निर्देश हैं कि सभी विमानों को एयरोब्रिज पर लगाने और वापस धकेलने के लिए एयरलाइंस टो बार का उपयोग करें। दरअसल, विमान में रिवर्स गियर नहीं होता है। इसलिए एयरलाइंस एयरोब्रिज पर विमानों को लगाने और वापस ले जाने के बजाय घूमा कर ले जाती हैं। इसे लेकर भी कंपनियों को निर्देशित किया कि वे टो बार की मदद से ही विमान को पीछे ले जाएं।

विस्तारा की भी हालत खराब

जानकारी के अनुसार एयर इंडिया और विस्तारा के अधिकारियों ने बताया कि उनके ग्रांउड हैंडलिंग उपकरण खराब हो गए हैं। इसे लेकर उन्हें तुरंत उपकरण ठीक करवाने या दूसरे उपकरण बुलवाने के निर्देश दिए गए हैं। अब तक एयर इंडिया इंडिगो के टो बार को इस्तेमाल कर रही थी, लेकिन मुख्यालय का हवाला देकर इंडिगो ने इसे देने से मना कर दिया है।

तीन एयरोब्रिज मौजूद, दो का निर्माण जारी

विमानतल पर अभी तीन एयरोब्रिज हैं, जबकि दो अन्य का निर्माण चल रहा है। एयरोब्रिज का उपयोग करने से यात्रियों को सुविधा हो जाती है। वे कम समय में टर्मिनल से विमान में पहुंच जाते हैं, जबकि एप्रिन में विमान लगाने पर यात्रियों को टर्मिनल तक लाने के लिए बस का उपयोग करना होता है। विमान में बैठाने के लिए सीढ़ियों का उपयोग करना होता है।

Posted By: gajendra.nagar