फर्जी एडवाइजरी मामले में इंदौर में एक और आरोपित गिरफ्तार

Updated: | Wed, 08 Dec 2021 09:07 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। देश व विदेश के निवेशकों के साथ 20 करोड़ रुपये से अधिक की ठगी करने के मामले में तिलक नगर थाना पुलिस ने एक और आरोपित शुभम को गिरफ्तार किया है।टीआइ मंजू यादव ने बताया कि एक दिसंबर को फर्जी एडवाइजरी कंपनी चलाने वाले तीन आरोपित नीरज जैन, अजय और गौतम को गिरफ्तार किया था।

बुधवार को पकड़े गए आरोपित शुभम निवासी सागर नीरज की एडवाइजरी कंपनी में काम करता था, शुभम ने एडवाइजरी कंपनी के खाते में रुपये न बुलवाते हुए खुद के निजी खाते में 15 लाख रुपये बुलवा लिए थे। इसके बाद उसने कंपनी से काम छोड़ दिया। करीब पांच महीने से वह काम पर नहीं आ रहा था। शुभम ने तीनों आरोपितों के साथ काम करते हुए उन्हें ही ठग लिया था। इसकी शिकायत जब अहमदाबाद के फरियादी ताह बत्तू पाल ने पुलिस को की थी, खाता नंबर के आधार पर आरोपित का पता लगाया। जानकारी मिली कि वह सागर का रहने वाला है, जिसके बाद पुलिस आरोपित को गिरफ्तार करके इंदौर लाई है।

सेबी से मांगी जा रही जानकारी

टीआइ ने बताया कि आरोपित संविद नगर व कनाड़िया रोड दोनों स्थानों पर एडवाइजरी कंपनी केपिटल प्राइड का बोर्ड लगाकर पांच अन्य फर्जी एडवाइजरी का नाम बताकर लोगों से रुपये ठग रहे थे। आरोपित मार्केट प्लस 365, फिन्टेक, फार्चून-5 सेल्यूसन, स्मार्ट लाइट और वेल्यू स्टेट इन्वेस्टमेंट एडवाइजरी प्रायवेट लिमिटेड नाम की फर्जी एडवाइजरी बनाकर उनके खाते में रुपये बुलवाते थे। इन सभी कंपनियों के बारे में सेबी (भारतीय सिक्योरिटीज एवं विनिमय बोर्ड) से जानकारी मांगी है। सेबी ने 35 और फरियादियों की की लिस्ट सौंपी है, आशंका है कि इन लोगों को भी आरोपितों ने ठगा है। पुलिस जांच के बाद सेबी को इसकी रिपोर्ट सौंपेगी।

Posted By: gajendra.nagar