Liquor Mafia Indore: गैंगस्टर सतीश और चिंटू की कारें जब्त, विवाद का वीडियो वायरल

Updated: | Sun, 25 Jul 2021 07:04 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Liquor Mafia Indore। गैंगस्टर सतीश मराठा उर्फ सतीश भाऊ और चिंटू उर्फ हितेंद्र ठाकुर से पुलिस ने 50 लाख रुपये कीमत की दो कारें जब्त कर ली है। आरोपितों ने वारदात और फरारी में दोनों कारों का उपयोग किया था। उधर पुलिस ने हमले में फरार शूटर रितेश करोतिया, हेमू ठाकुर और उसके साथियों पर इनाम राशि बढ़ा कर 20 हजार कर दी है। आरोपित हेमू की लोकेशन जयपुर के समीप मिली है। वह नेताओं के माध्यम से पेश होने की जुगाड़ में है। इस बीच विवाद के एकाधिक वीडियो भी वायरल हो गए हैं। इन्‍हें लेकर अलग, अलग बातें कही जा रही हैं।

एसपी (पूर्वी) आशुतोष बागरी के मुताबिक चिंटू ठाकुर और सतीश भाऊ 28 जुलाई तक रिमांड पर है। पुलिस ने दोनों अपराधियों के रिश्तेदार, साथी, पार्टनर और स्वजनों सहित इनसे जुड़े प्रत्येक व्यक्ति की जानकारी जुटा ली है। शुक्रवार को उनके घरों की तलाशी भी ली गई है। भाऊ के फ्लैट से पुलिस को मुक्के मारने का पंच, फर्जी प्रेस कार्ड, बैंक पासबुक और कुछ दस्तावेज मिलें हैं। आरोपित भाऊ के रिश्तेदार जितेंद्र के यहां भी कागज पुलिस को मिलें है। पुलिस इस संंबंध में पूछताछ कर रही है। चिंटू और हेमू के रिश्तेदार की उस होटल की जानकारी जुटा ली जो बाणगंगा रोड़ पर नाले पर बनी है।

शूटर मोनू और राजदार लूनिया से पूछताछ

विजयनगर थाना टीआइ तहजीब काजी के मुताबिक भाऊ के शूटर मोनू सुजीत, प्रमोद उर्फ पप्पू, गोविंद गेहलोत और राजदार सत्यनारायण लूनिया से अलग अलग टीमें पूछताछ कर रही है। गोविंद, पप्पू और मोनू घटना के वक्त सिंडीकेट ऑफिस में मौजूद था, जबकि लूनिया ने सांवेर रोड़ पर रुपये देकर फरारी में मदद की थी। लूनिया से ही उसने आखिरी बार बात की थी। इसके बाद वह उज्जैन भाग गया। टीआइ के मुताबिक हेमू, रितेश करोतिया सहित अन्य पर इनाम राशि बढ़ाकर 20 हजार करने के लिए पत्र लिखा है। दोनों की मोबाइल लोकेशन के आधार पर अलग अलग शहरों मे तलाश जारी है।

फुटेज में सामान्य दिखे एकेसिंह, राय पर षड़यंत्र का शक

जांच में शामिल एक टीम को सिंडीकेट ऑफिस के सीसीटीवी फुटेज जांचने का जिम्मा सौंपा गया है। शुक्रवार को अफसरों ने बारीकी से फुटेज देखा और घटना के वक्त ऑफिस में मौजूक प्रत्येक व्यक्ति की हरकतें जांची। इस दौरान पता चला बातचीत के दौरान चिंटू ने अर्जुन की तरफ देखा और हवा में गोली चलाई। थोड़ी देर बाद बाहर खड़ा रितेश व अन्य ने भी पिस्टल तान दी। इस दौरान एकेसिंह सामान्य नजर आए। उन्होंने चिंटू की तरफ हाथ लिहाते हुए शांत रहने का इशारा किया।

एसपी के मुताबिक जो आक्रामक मुद्रा में होगा उसे आरोपित माना जाएगा। उधर पुलिस ने उन 34 शराब कारोबारियों की सूची भी प्राप्त कर ली है जो सिंडीकेट में शामिल है। इस सूची में भी एकेसिंह का नाम नहीं है। सूत्रों के मुताबिक इसके बाद महमूद खान और रमेशचंद राय जांच की जद में आ गए है। राय पर विवाद उत्पन्न कर एक तरफा साम्राज्य खड़ा करने के लिए षड़यंत्र का शक है। राय के बेटे ऋषि पर राजेंद्रनगर और बहू निधि पर झाबुआ में केस दर्ज है।

Posted By: Sameer Deshpande