Congress Demonstration Indore: मनमाने बिलों और भ्रष्टाचार पर कांग्रेस का प्रदर्शन, अधिकारी के सामने लगाए भ्रष्टाचार के आरोप

Updated: | Tue, 03 Aug 2021 03:47 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Congress Demonstration Indore। बिजली कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं को दिए जा रहे मनमाने बिलों और कंपनी में जारी घोटालों पर विरोध अब सड़क पर फूटने लगा है। मंगलवार को कांग्रेस सेवादल ने पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के पोलोग्राउंड स्थित मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस के विधायक संजय शुक्ला शंख लेकर और कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष मुकेश यादव झांझ लेकर कार्यकर्ताओं के साथ कंपनी के मुख्यालय पर पहुंच गए। विधायक ने शंख फूंककर विरोध प्रदर्शन की शुरुआत की। बिजली कंपनी के सीजीएम संतोष टैगोर कांग्रेस नेताओं से ज्ञापन लेने आए तो उन पर ही कांग्रेस नेताओं ने भ्रष्टाचार में शामिल होने के आरोप लगा दिए।

विधायक और सेवादल अध्यक्ष के साथ 50 से ज्यादा कांग्रेस पदाधिकारी बिजली कंपनी के दफ्तर पहुंचे थे। दफ्तर के बाहर कांग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का मुखौटा पहने एक व्यक्ति को नोटों की माला पहनाकर खड़ा कर दिया। माइक लेकर नारेबाजी करते नेताओं ने बड़े बिलों को वापस लेने की मांग की। आरोप लगाया कि कांग्रेस के शासन काल में शुरू हुई 100 रुपये के बिल वाली योजना को खत्म कर दिया गया। अब गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों को मनमाने बिल दिए जा रहे हैं। केंद्र सरकार की आइपीडीएस योजना में हुए घोटाले पर भी कांग्रेस नेता मुखर हुए।

सेवादल अध्यक्ष मुकेश यादव ने लाउडस्पीकर पर ही भाषण देते हुए कंपनी के सीजीएम संतोष टैगोर पर आरोप लगा दिया। यादव ने कहा कि आइपीडीएस में कंपनी में करीब 100 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है। कंपनी ने इंदौर में ठेकादार कंपनी क्षेमा पावर को 4 करोड़ का नोटिस तो दिया लेकिन अब कार्रवाई रोक दी। पहले घोटालेे में कमीशन लिया अब दोषी कंपनी को बचाने के लिए रिश्वत ली जा रही है। तीन अन्य कंपनियों की भी जांच रोककर अधिकारी उनसे वसूली कर रहे हैं। इंदौर के साथ देवास, उज्जैन और रतलाम में भी घोटाले किए गए। इंदौर की बिजली कंंपनी ही 15 जिलों में विद्युत आपूर्ति करती है। सभी जगह उपभोक्ताओं को मनमाने बिल दिए जा रहे हैं और जमकर भ्रष्टाचार हो रहा है।

विधानसभा से जूठ मत बोलो

प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस नेताओं से ज्ञापन लेने बिजली कंपनी के सीजीएम संतोष टैगोर आए। टैगोर को ज्ञापन सौंपते हुए विधायक शुक्ला ने मांग की कि बिजली के बढ़े बिल कम किए जाए। टैगोर ने कहा कि शासन को कंपनी भी लिखकर भेज रही है। बिलों को किस्तों में भरने की सुविधा देंगे। भ्रष्टाचार पर कार्रवाई नहीं करने पर विधायक शुक्ला ने कहा तो अधिकारी ने जवाब नहीं दिया।

इस पर शुक्ला बोले मैंने विधानसभा के जरिए प्रश्न पूछा था उस पर भी कंपनी ने झूठा जवाब दिया। आप सदन से झूठ तो मत बोलों। फिर से सवाल उठाउंगा भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई करना ही होगी। पार्षद अंसाफ अंसारी, अनवर दस्तक के साथ दीपू यादव, देवेंद्र यादव, पूर्व पार्षद रफीक खान, गट्टू यादव, विवेक खंडेलवाल समेत तमाम कांग्रेसी मौजूद थे।

Posted By: Sameer Deshpande