Corona Third Wave: कोरोना महामारी की दूसरी लहर से सबक, तीसरी के लिए मालवा-निमाड़ में मुस्तैदी का दावा

Updated: | Sat, 31 Jul 2021 09:21 PM (IST)

Corona Third Wave: मालवा-निमाड़ (टीम नईदुनिया)। कोरोना महामारी की दूसरी लहर को लेकर अदूरदर्शिता का दंश हमने भोगा है। अब तीसरी लहर की आशंका है। ऐसे में नईदुनिया ने पड़ताल की कि स्वास्थ्य विभाग ने सबक लिया या नहीं। क्या तैयारियां हैं? अधिकारियों का दावा है कि पूरे इंतजाम किए जा रहे हैं। अस्पताल में आक्सीजन सुविधा वाले सहित आइसीयू बेड बढ़ाए हैं। कई जगह नए आक्सीजन प्लांट भी शुरू हो गए हैं। बच्चों के लिए अलग से वार्ड बनाए जा रहे हैं।

उज्जैन जिले में तीन नए मरीज मिले हैं। तीसरी लहर से निपटने के लिए चरक अस्पताल में 150 और माधवनगर में 200 बिस्तरों की व्यवस्था है। चरक अस्पताल में बच्चों के लिए 60 बेड का विशेष वार्ड भी बनाया है। तीन नए आक्सीजन प्लांट शुरू हो चुके हैं। खंडवा में मेडिकल कालेज ने कोविड सेंटर के पास बिल्डिंग में 20 बिस्तरों का बधाों का आइसीयू तैयार किया है। 400 एलपीएम का आक्सीजन प्लांट शुरू हो चुका है। 1200 एलपीएम के प्लांट को लगाने की तैयारी जारी है।

देवास जिला अस्पताल में पहले 60 आक्सीजन बेड थे, अब 160 बेड हैं। पहले सिर्फ 10 बेड का आइसीयू था, अब 40 बेड हैं। एक आक्सीजन प्लांट लग चुका है। एक अन्य एक सप्ताह में लगाने का दावा है। रतलाम में जिला अस्पताल, मेडिकल कालेज व रेलवे अस्पताल में आक्सीजन प्लांट लग चुके हैं। बाल चिकित्सालय में 70 बेड का कोविड वार्ड बन रहा है।

बड़वानी जिला अस्पताल में 12 बेड आइसीयू हैं, कोविड के लिए 15 बेड आइसीयू और तैयार किया है। तीन आक्सीजन प्लांट जल्द ही काम करने लगेंगे। बच्चों के लिए 25 वार्ड का आइसीयू बन रहा है। खरगोन में जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डा. दिव्येश वर्मा ने बताया कि परिसर में 1600 एलपीएम क्षमता के दो आक्सीजन प्लांट का निर्माण जारी है। 10 बेड का बच्चों का आईसीयू और 40 बेड का बच्चों के लिए अलग से वार्ड बनाया जा रहा है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay