DAVV Indore News: प्रत्येक आठवें विद्यार्थी ने डीएवीवी से एमबीए में करने में दिखाई दिलचस्पी

Updated: | Sat, 16 Oct 2021 05:03 PM (IST)

कपिल नीले, इंदौर, DAVV Indore News। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (डीएवीवी) से संचालिए एमबीए पाठ्यक्रम में दाखिले को लेकर विद्यार्थियों की खासी दिलचस्पी रही है। काउंसिलिंग में प्रत्येक आठवें विद्यार्थी ने एमबीए को चुना है। विभिन्ना विभागों के 23 एमबीए कोर्स की 1400 में से 1235 छात्र-छात्राओं को प्रवेश मिला है। मार्केटिंग मैनेजमेंट, फाइनेंस, एचआर, हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन को प्राथमिकता दी गई। आलम यह था कि काउंसिलिंग के तीसरे दिन ही आरक्षित और अनारक्षित सीटें फुल हो गई। जबकि डिजास्टर मैनेजमेंट, रूरल मैनेजमेंट और पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन की सीटों को भरने के लिए दूसरे चरण की काउंसिलिंग का इंतजार है। उधर सालना बढ़ते पैकेज की वजह से मैनेजमेंट कोर्स में रूचि बढ़ाई है। 2021-22 में साढ़े 12 लाख का पैकेज विद्यार्थियों को मिला है।

विश्वविद्यालय की कामन एंट्रेंस टेस्ट (सीईटी) की काउंसिलिंग के जरिए 16 विभागों के 41 कोर्स में प्रवेश हुआ। 2551 सीटों के लिए 5500 विद्यार्थियों ने काउंसिलिंग में हिस्सा लिया। ग्रुप ए में 18, ग्रुप बी में तीन और ग्रुप सी में एक एमबीए कोर्स थे। अकेले मैनेजमेंट में 1400 सीटें थी। काउंसिलिंग में शामिल सदस्यों के मुताबिक प्रवेश लेने आए छात्र-छात्राओं ने मैनेजमेंट कोर्स चुना, क्योंकि बीते तीन साल में विश्वविद्यालय से एमबीए करने वालों के पैकेज में बढ़ोत्तरी हुई है। 2018 से 30 प्रतिशत पैकेज में इजाफा हुआ है। औसतन पैकेज में चार लाख और अधिकतम साढ़े 12 लाख तक विद्यार्थियों को मिला है। आइआइपीएस, आइएमएस से संचालित एमबीए की सीटें तुरंत भर गई। पहले चरण की काउंसिलिंग में लगभग 2350 सीटों पर दाखिला हो चुका है। विद्यार्थियों को शनिवार तक फर्स्ट सेमेस्टर की फीस जमा करना है। प्रवेश समिति के डा. अशुतोष मिश्रा का कहना है कि प्रत्येक आठवें विद्यार्थियों ने एमबीए में प्रवेश लिया है। सीईटी में मैनेजमेंट कोर्स की डिमांड रहती है। यही वजह है कि ग्रुप ए में सबसे ज्यादा विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन करवाते है। सीईटी चेयरमैन डा. कन्हैया आहूजा का कहना है कि कुछ स्ट्रीम में एमबीए छोड़ दिया जाए तो बाकी कोर्स में सीटें फुल हुई है। एसटी, एससी, ओबीसी, ईडब्ल्यूएस और जनरल सीटें भर चुकी है।

ये है आठ विभाग

आइएमएस, आइआइपीएस, ईएमआरसी, इकानोमिक्स, एनर्जी, डाटा साइंस, कम्प्युटर साइंस, सोशल साइंस।

ये है कोर्स

मार्केटिंग मैनेजमेंट, फाइनेंस, एचआर, बिजनेस एनालिसिस, ई-कामर्स, टूरिज्म, हास्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन, कम्प्युटर साइंस, बिजनेंस इकोनामी, डिजास्टर मैनेजमेंट, इंटरनेशनल बिजनेस, मीडिया मैनेजमेंट, रुरल मैनेजमेंट, पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन, फारेन ट्रेड, फाइनेंस सर्विसेस, मैनेजमेंट साइंस शामिल है।

अस्पतालों में बढ़े पद

कोरोना की वजह से अचानक स्वास्थ्य क्षेत्र में तेजी आई है। विद्यार्थियों की रूचि हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स में बढ़ गई है। अस्पतालों में कई नए पद निकाले है। इसे देखते हुए आइएमएस ने एमबीए हास्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में दो और पांच वर्षीय कोर्स शुरू किया है। विद्यार्थियों ने तुरंत इसमें प्रवेश लिया है। विवि के अलावा इन दिनों एमबीए एचए अरिहंत कालेज में भी चल रहा है।

Posted By: gajendra.nagar