Electricity company Indore: वैश्य बने बिजली कंपनी के सीजीएम, टैगोर को उज्जैन भेजा

Updated: | Sat, 25 Sep 2021 02:22 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Electricity company Indore। रिंकेश कुमार वैश्य पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के नए मुख्य महाप्रबंधक होंगे। ग्वालियर में अपर कलेक्टर के रूप में पदस्थ वैश्य की नई पदस्थापना का आदेश शुक्रवार शाम जारी हुआ। इनसे पहले बिजली कंपनी में सीजीएम रहे संतोष टैगोर को अपर कलेक्टर बनाकर उज्जैन भेज दिया गया है।

पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी बीते समय से आइपीडीएस घोटाले के कारण चर्चा में है। नईदुनिया ने इस घोटाले का खुलासा किया था। बीते दिनों पूर्व सीजीएम टैगोर की भी एक रिकार्डिंग सामने आ गई थी। इसके बाद टैगोर को छुट्टी पर भेज दिया गया था। 16 सितंबर को बिजली कंपनी ने आदेश जारी कर मुख्य अभियंता एसआर बमनके को सीजीएम का प्रभार सौंप दिया था। इसके बाद से बिजली कंपनी में नए सीजीएम की नियुक्ति की चर्चा चल रही थी। पूर्व में नरोत्तम भार्गव का नाम चला लेकिन आखिरकार वैश्य को नियुक्ति मिली। माना जा रहा है कि ग्वालियर के वैश्य की पदस्थापना उर्जा मंत्री प्रद्युम्नसिंह तोमर की पसंंद से की गई है।


गांव में बिल की वसूली बढ़ाने के लिए युवाओं की ले मदद

शहरों एवं कस्बों में बिजली बिलों की वसूली संतोषजनक है, लेकिन गांवों में वसूली चिंताजनक है। प्रत्येक एक हजार ग्रामीण आबादी पर बिजली बिल कलेक्शन के लिए युवाओं का एक समूह बनाया जाए ताकि ग्रामीणों को बिल भरने के लिए अन्यत्र न जाना पड़े। इससे उन्हें सुविधा मिलेगी, बिजली कंपनी को राजस्व प्राप्त होगा। मध्यप्रदेश के प्रमुख सचिव (ऊर्जा) संजय दुबे ने ये निर्देश दिए। दुबे ने शुक्रवार शाम पोलोग्राउंड स्थित मप्रपक्षेविविकं के सभागार में वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक ली। एमडी अमित तोमर भी बैठक में मौजूद थे। दुबे ने कहा कि पांच हजार की आबादी वालों ग्रामों की सूची बनाकर मीटरीकरण के लिए सुनियोजित कार्य योजना बनाए, ग्रामीण क्षेत्र में फीडर एवं बस्तियों में लाइन लास रोकने के हरसंभव कोशिश की जाए। बिजली चोरी रोकने के लिए युवाओं को जोड़े। इन कामों के लिए इंसेंटिव भी दिया जा सकता है। प्रमुख सचिव ने कहा कि आगामी समय में सभी जगह स्मार्ट मीटर लगाए जाना है। इनमें प्रीपेड की व्यवस्था के लिए सभी स्तर की तैयारी की जाए। चाहे वह विद्युत संहिता के संबंध में हो या फिर आयोग के विषय की। दुबे ने कहा कि अगले माह के दौरे में वे इंदौर एवं उज्जैन शहर में मौके पर जाकर निरीक्षण करेंगे।

Posted By: gajendra.nagar