इंदौर में घी के कारोबार में धोखाधड़ी, हरियाणा की कंपनी के डिब्बों पर अपना लेबल लगाकर बेच रहे

Updated: | Wed, 27 Oct 2021 08:25 PM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में कुछ घी कारोबारी दूसरी कंपनियों के पैक घी के डिब्बों पर अपना लेबल लगाकर बेच रहे हैं। धोखाधड़ी का यह खेल भंवरकुआं क्षेत्र की श्री शिव डेयरी एंड स्वीट्स पर सामने आया है। यहां हरियाणा के फरीदाबाद की कंपनी के पार्श्वनाथ घी के डिब्बों के ऊपर से लेबल हटाकर इस पर श्री शिव देसी घी के लेबल लगाकर बेचा जा रहा है।

खाद्य और औषधि प्रशासन (एफडीए) के दल ने बुधवार को श्री शिव दूध डेयरी एंड स्वीट्स पर छापामार कार्रवाई की तो यह चौंकाने वाली हकीकत सामने आई। इस धोखाधड़ी पर फर्म के संचालक राहुल प्रेमनारायण जिराती के खिलाफ भंवरकुआं थाने पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया है। जांच के दौरान खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने घी के डिब्बों के लेबल हटाकर देखा तो अंदर पार्श्वनाथ घी के लेबल चिपके मिले।

शिव डेयरी के संचालक ने पार्श्वनाथ घी की डिब्बों की पैकिंग के ऊपर के लेबल तो फाड़ दिए लेकिन अंदर के लेबल वैसे ही रहे और इस पर अपनी फर्म श्री शिव घी के लेबल चिपका दिए। उसकी यह कलाकारी जांच में पकड़ी गई। फर्म संचालक जांच अधिकारियों को घुमाने की कोशिश करने लगा कि वह तो पार्श्वनाथ घी के खाली डिब्बों का उपयोग करता है, इसलिए यह लेबल चिपके हुए हैं, लेकिन जब परिसर के गोदाम में अंदर जाकर देखा तो यहां पार्श्वनाथ घी के करीब 150 भरे हुए डिब्बे पाए गए।

बिना लाइसेंस और बैच नंबर की आसाम चाय, अहमदाबाद की पैकिंग मिठाई खुले रूप में

फर्म के परिसर में आसाम चाय के नाम से पैकिंग चाय पत्ती भी बेची जा रही थी। इसकी पैकिंग पर भी न तो लाइसेंस नंबर, न बैच नंबर लिखा जा रहा है। यहां भी भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआइ) के नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है। जांच में यह भी पता चला कि फर्म का संचालक अहमदाबाद से कृष्णा डेलिशियस स्वीट्स की मिठाई मंगवाकर उसे खुले रूप में अपने यहां से बेचता है।

जांच अधिकारियों ने फर्म के परिसर से 2400 किलो घी और 20 किलो चाय जब्त की है जिसकी कीमत लगभग नौ लाख रुपये है। खाद्य सुरक्षा अधिकारी राजू सोलंकी, अवशेष अग्रवाल, हिमाली सोनपाटकी आदि ने यहां घी, मावा, पनीर(, मिठाई, मिश्रित दूध, दही, चाय के 15 नमूने जांच में लिए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay