Ganesh Visarjan Indore: Video आस्था पर चोट...डंपर से उठाकर फेंकी गणेश प्रतिमाएं, सात निलंबित

Updated: | Mon, 20 Sep 2021 09:42 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Ganesh Visarjan Indore । नगर निगम द्वारा विसर्जन के लिए शहरभर से इकट्ठा की गई गणेश प्रतिमाओं को जवाहर टेकरी से अपमानजनक तरीके से विसर्जित किया गया। निगम कर्मचारी डंपरों से प्रतिमाएं उठाकर बिना पूजन किए टेकरी में जमा पानी में फेंकते रहे। इस दौरान कुछ प्रतिमाएं नीचे गिरती रही। सोमवार को जब घटना के वीडियो और फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुए, तो हड़कंप मच गया। हर साल विसर्जन के दौरान यही होता है, लेकिन नगर निगम के अधिकारी प्रतिमा विसर्जन का व्यवस्थित तरीका नहीं निकालते। रात में निगमायुक्त ने इस मामले में सात कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया।

घटना के वीडियो सामने आने के बाद निगमायुक्त के निर्देश पर अपर आयुक्त अभय राजनगांवकर टेकरी पहुंचे और कर्मियों को फटकारते हुए व्यवस्थित तरीके से प्रतिमा विसर्जन करवाया। जवाहर टेकरी पर हर साल जमा होने वाले बरसाती पानी में प्लास्टर आफ पेरिस (पीओपी) से बनी प्रतिमाएं विसर्जित की जाती हैं। कुछ लोगों का यह भी कहना है कि टेकरी में जहां प्रतिमा विसर्जन होता है, वहां आसपास कुछ जगह से ड्रेनेज का गंदा पानी आकर मिलता है। इसके लिए भी नगर निगम को कोई व्यवस्था करनी चाहिए। विसर्जन गंदे पानी में नहीं किया जाता।

डंपर खोले...और प्रतिमाएं फेंकते लगे

अधिकारियों ने इस बार भी दावा किया था कि निगम विधि-विधान से विसर्जन होगा, लेकिन टेकरी पर विधि-विधान जैसी कोई बात नजर नहीं आ रही थी। नागरिक बड़े भरोसे के साथ अपने घरों-दुकानों में स्थापित प्रतिमाएं नगर निगम द्वारा बनाए गए संग्रहण केंद्रों में देते हैं, लेकिन प्रतिमा विसर्जन सम्मान से करने के बजाय निगमकर्मी उसे ऐसे फेंकते हैं, जैसी कोई ईंट-पत्थर हो।

गलत है, कर्मियों की पहचान की जा रही है

नगर निगम के अपर आयुक्त और विसर्जन संबंधी व्यवस्थाओं के प्रभारी अधिकारी अभय राजनगांवकर नेे माना कि इस तरह से प्रतिमाएं फेंककर विसर्जित करना गलत है। उन्होंने बताया कि कर्मियों को निर्देश दिए गए थे कि वे एक-एक, दो-दो कदम पानी में उतरकर एक-एक प्रतिमा का सम्मान से विसर्जन करें। कुछ कर्मियों ने कुंड की गहराई ज्यादा होने से कहना नहीं माना और डंपर पर खड़े होलकर प्रतिमाएं फेंकने लगे। सभी कर्मियों ने ऐसा नहीं किया। प्रतिमा फेंकनेे वालों में जोन-13 और एकाद अन्य जोन के कर्मी हैं। उनकी पहचान की जा रही है। निगमायुक्त ने कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। अगले साल से विसर्जन के दौरान और ज्यादा एहतियात बरतेंगे।

गंदा पानी नहीं आता

निगम केे सिटी इंजीनियर अशोक राठौर ने बताया कि जवाहर टेकरी पंचायत क्षेत्र में है। वहां बनी खदान में बरसाती पानी जमा होता है, इसलिए बीते कुछ साल सेे उसमें प्रतिमाएं विसर्जित की जाती हैं। जहां तक मेरी जानकारी है, खदान में गंदा पानी नहीं आता।

करीब 45 डंपर प्रतिमाएं विसर्जित

नगर निगम ने शहर में 85 जगह पीओपी से बनी गणेश प्रतिमाओं का संग्रहण किया था। अपर आयुक्त ने बताया कि शाम पांच बजे तक करीब 45 डंपर भरकर विसर्जित की जा चुकी थीं।

जिन्हें हटाया, अब वे बहाल नहीं होंगे

नगर निगम कर्मियों से इस तरह के कृत्य की उम्मीद नहीं की जा सकती, इसलिए उन पर तुरंत कार्रवाई की गई है। जिन कर्मियों को हटाया गया है, उन्हें भविष्य में बहाल नहीं किया जाएगा। नोडल अधिकारी को यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि भविष्य में कतई ऐसी लापरवाही नहीं हो।

- प्रतिभा पाल, निगमायुक्त

Posted By: Sameer Deshpande