उच्‍च शिक्षा के साथ संभाला व्‍यवसाय, अब इंदौर की कृति कोठारी लेंगी दीक्षा

Updated: | Tue, 26 Oct 2021 09:34 PM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जानकी नगर निवासी कृति कोठारी अब संन्यास के मार्ग पर चलने जा रही हैं। उच्च शिक्षा के बाद व्यवसाय की जिम्मेदारी संभालने वाली कृति कोठरी ने दीक्षा लेने का निर्णय लिया है। एमबीए करने वाली 27 वर्षीय कृति कोठारी डेढ़ सौ से अधिक साधु-साध्वियों की निश्रा में दीक्षा जीवन में प्रवेश करने जा रही हैं। यह दीक्षा समारोह जल्द ही शहर में आयोजित होगा।

सियागंज में दस वर्षों से खुद के द्वारा स्थापित इलेक्ट्रिक उत्पादों का व्यवसाय करने वाली कृति को पालीताणा तीर्थ पर आचार्य मणिप्रभ सागर महाराज ने दीक्षा जीवन में प्रवेश की अनुमति प्रदान की।

श्री जैन श्वेतांबर मूर्तिपूजक संघ जानकी नगर के प्रेमचंद कटारिया ने बताया कि सोमवार को पालीताणा तीर्थ में आयोजित समारोह में कृति को दीक्षा देने की अनुमति प्रदान की गई है।

कृति 2018 में चातुर्मास के दौरान साध्वी विरलप्रभा व विपुलप्रभा के संपर्क में आई और तब से उन्होंने अपनी जिम्मेदारियां परिवार के अन्य सदस्यों को सौंपनी शुरू कर दी। कृति के पिता महेंद्र का निधन हो चुका है और बड़ी बहन शादीशुदा है। कृति ने मां पुष्पा कोठारी के साथ रहते हुए तीन वर्षों से अध्यात्म जीवन एवं दीक्षा पश्चात कठोर जीवन को समझने एवं सीखने का अभ्यास भी किया है।

सार्थक दीपावली अभियान आज से

अग्रवाल समाज का सार्थक दीपावली अभियान बुधवार से शुरू होगा। शुरुआत पंचकुइया मुक्तिधाम के पास स्थित सरस्वती सदन प्राथमिक विद्यालय में सुबह 9.30 बजे से होगी। समाजसेवी पवन सिंघानिया के आतिथ्य में जरूरतमंद बच्चों को कपड़े, पटाखे, मिठाई आदि वितरित किए जाएंगे। अभियान के संयोजक अरविंद बागड़ी एवं कुलभूषण मित्तल ने बताया कि यह पहला आयोजन महानगर अग्रवाल वैश्य संगठन की मेजबानी में होगा। अभियान 3 नवंबर तक शहर के विभिन्ना क्षेत्रों की झुग्गी बस्तियों में रहने वाले परिवारों के बीच चलेगा।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay