हरियाणा के डाक्टर और स्टाफ का होगा इंदौर के एमजीएम मेडिकल कालेज में प्रशिक्षण

Updated: | Wed, 01 Dec 2021 07:44 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। हरियाणा के डाक्टर और स्टाफ एमवाय अस्पताल में मौजूद स्वास्थ्य सुविधाओं के संबंध में प्रशिक्षण लेगा। इसके लिए एमजीएम मेडिकल कालेज व हरियाणा सरकार के बीच जल्द एमओयू होगा। बुधवार को इस संबंध में हरियाणा के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ओमप्रकाश यादव एमजीएम मेडिकल कालेज पहुंचे।

उन्होंने मध्यप्रदेश सरकार के दिव्यांगजन सशक्तीकरण कार्यक्रम की जानकारी ली। मेडिकल कालेज में दिव्यांगता संबंधी प्रमुख विभागों के अध्यक्षों से भी चर्चा की। बैठक में डीन डा. संजय दीक्षित ने मेडिकल कालेज द्वारा दिव्यांगजन कल्याण के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी दी। कृत्रिम अंग प्रत्यारोपण केंद्र में बनाए जा रहे नकली हाथ, पैरों के साथ अन्य उपकरणों के निर्माण, काकलियर इंप्लांट्स, अंधत्व निवारण, मेंटल डिसेबिलिटी कार्यक्रम के बारे में भी बताया। मंत्री यादव ने कृत्रिम अंग निर्माण और डाक्टरों द्वारा की जा रही शीघ्र पहचान व निदान कार्यक्रम की कार्यप्रणाली पर प्रसन्नाता जाहिर की। उन्होंने हरियाणा के डाक्टरों को एमजीएम मेडिकल कालेज में ट्रेनिंग हेतु भेजने के लिए एक प्रस्ताव भी दिया, जिसके तहत भविष्य में एमओयू साइन होने के बाद हरियाणा के डाक्टर भी दिव्यांगजन कल्याण के लिए कृत्रिम अंग निर्माण व शल्यक्रिया संबंधी प्रशिक्षण एमजीएम मेडिकल कालेज में ले सकेंगे।

मंत्री यादव ने प्रदेश सरकार की दिव्यांगजन को दी जा रही राहत प्रक्रिया और अधिकारियों की जिम्मेदारियों के बंटवारे और विभागों की सक्रियता पर खुशी जाहिर की। इस तरह की व्यवस्था हरियाणा में भी लागू करने की मंशा जाहिर की। इस बैठक के दौरान एमवायएच के अधीक्षक डा. पीएस ठाकुर, डिप्टी सुपरिनटेंडेंट डा. डीके शर्मा, निश्चेतना विभाग प्रमुख डा. केके अरोरा, मनोरोग विभाग के डा. वीएस पाल, नाक, कान एवं गला रोग विभाग की डा. यामिनी गुप्ता, हड्डी रोग विभाग के प्रमुख आनंद अजमेरा, नेत्र रोग विभाग प्रमुख डा. विजय भाईसारे, सामाजिक न्याय विभाग की संयुक्त संचालक सुचिता तिर्की बैक, सिविल सर्जन संतोष वर्मा, डीएचओ संतोष सिसोदिया भी मौजूद थे। बैठक के बाद मंत्री ने एमवाय अस्पताल में कृत्रिम अंग प्रत्यारोपण विभाग का जायजा लिया।

Posted By: gajendra.nagar