Wear Helmet Stay Safe: हेलमेट पहना होता तो बच जाती दीदी की जान

Updated: | Tue, 28 Sep 2021 11:18 AM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Wear Helmet Stay Safe । तीन दिन पहले सविता रणधावा की मौत का कारण रिंगरोड पर बना गड्ढा बना। भाई राहुल ने कहा कि यदि हेलमेट पहना होता तो आज सविता दीदी जिंदा होतीं। उन्होंने शहरवासियों से भी अपील की है कि घर से निकलते समय हेलमेट जरूर पहनें। भंवरकुआं टीआइ संतोष दूधी ने एक अन्य घायल सुजाता से बात की तो उसने बताया कि गड्ढे के कारण हादसा हुआ था।

टीआइ के अनुसार हादसा शनिवार रात करीब सवा आठ बजे का है। पड़ियाल (धार) निवासी 21 वर्षीय सविता पुत्री गणेश रणधावा मुंह बोले भाई राहुल और सहेली सुजाता के साथ खंडवा नाका आ रही थीं। रिंगरोड पर विशेष अस्पताल के पास सड़क पर बने गड्ढे में स्कूटर उतर गया और सविता व सुजाता गिर गईं। सिर में चोट आने के कारण सरिता बेहोश हो गई। राहुल उसे निजी अस्पताल लेकर आया लेकिन डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। टीआइ ने नगर निगम व खस्ताहाल सड़क के लिए जिम्मेदारों को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि सड़क सुधारें। वहीं खराब सड़कों पर खड़े रहकर पुलिस लोगों को गड्ढों से दूर रहकर गाड़ी चलाने की हिदायत भी दे रही है।

279 की हुई थी मौत

एएसपी अनिल पाटीदार के अनुसार हेलमेट न पहनने के कारण वर्ष 2020 में 279 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। अब चालक और बाइक पर पीछे बैठने वालों को भी अनिवार्य रूप से हेलमेट पहनना जरूरी है, इसके बावजूद भी लोग हेलमेट नहीं पहन रहे हैं। मरने वालों में 187 चालक हैं और 92 पीछे बैठने वालों की मौत हुई थी। लगातार चालानी कार्रवाई के बाद भी 98 प्रतिशत लोग बिना हेलमेट के घूमते हैं।

तीन साल में हेलमेट न पहनने वालों पर कार्रवाई

सन -चालान

2019 -76507

2020 -17209

2021 में अब तक 15774

क्या कहते हैं विशेषज्ञ

हेलमेट जीवन की सुरक्षा है। मैंने अपनी प्रैक्टिस के 26 साल में एक भी ऐसा केस नहीं देखा जिसमें हेलमेट पहनने वाले को सिर पर गंभीर चोट आई हो और उसकी मौत हुई हो। न सिर्फ दोपहिया चालक बल्कि वाहन की पिछली सीट पर बैठने वाले व्यक्ति को भी सुरक्षा के लिए हेलमेट पहनना चाहिए।

-डा. दीपक कुलकर्णी, न्यूरो सर्जन, इंदौर

Posted By: Sameer Deshpande