HamburgerMenuButton

Immunity Booster: तुलसी, लेमन ग्रास, जिंजर और ग्रीन टी से बढाएं रोग प्रतिरोधक क्षमता

Updated: | Mon, 30 Nov 2020 08:55 PM (IST)

इंदौर, Immunity Booster। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और तन-मन को स्वस्थ रखने के लिए चाय बहुत कारगर माध्यम है। यदि चाय आयुर्वेदिक पद्धति से बनाई जाए तो उसके लाभ और भी बढ़ जाते हैं। आयुर्वेदिक आहार विशेषज्ञ डॉ. प्रीति सिंह के अनुसार आप इस तरह से आयुर्वेदिक चाय बनाकर अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा सकते हैं।

कश्मीरी कहवा - तीन कप पानी में चार इलायची, छह लौंग, एकएक इंच के दालचीनी के टुकड़े डालकर उबालें और जब पानी दो कप रह जाए तो इसे छान लें। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और शरीर में उष्णता रहती है। न केमोमिला टीकेमोमिला फूल की पत्तियों को सुखा लें और उसका एक चुटकी पीला भाग एक कप पानी में डालकर उबाल लें। इसे छानकर पीने से तनाव कम होता है।

लैवेंडर टी - लैवेंडर की टहनी या पत्ती को सुखाकर एक कप पानी में दो चुटकी डालें। इसे उबालकर छानकर पिएं। नींद नहीं आने की समस्या भी इससे दूर होगी।

ग्रीन टी - अदरक या सौंठ, तुलसी, लौंग को एक कप पानी में डालकर उबालें और आधा रहने पर छानकर पिएं। यह कफ-कोल्ड, तनाव और अवसाद कम करने तथा ऊर्जा बढ़ाने में लाभकारी होगी।

तुलसी टी - एक कप पानी में तुलसी की पांच बड़ी पत्ती डालकर उबालें। इसे दिन में तीन-चार बार भी पी सकते हैं। इससे अवसाद दूर होगा।

लेमन ग्रास टी - लेमन ग्रास की पत्ती को पानी में उबालकर छानकर पीने से थकान दूर होती है। मस्तिष्क भी ठंडा रहता है।

जिंजर टी - पानी में अदरक या सौंठ उबालकर छानकर पिएं। यह कफ कोल्ड को दूर करेगा।

नोट : चाय में मिठास के लिए कप में गुड़ डालकर चाय उसमें छान लें।

Posted By: Prashant Pandey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.