इंदौर की फीनिक्स टाउनशिप में भू-माफिया ने डमी सदस्यों के नाम पर दलालों को दे रखे हैं 40-40 प्लाट

Updated: | Sun, 28 Nov 2021 09:50 AM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि । भू-माफिया रीतेश उर्फ चंपू अजमेरा और चिराग शाह के कब्जे वाली फीनिक्स टाउनशिप में कुछ ऐसे निवेशक या दलाल हैं जिनके परिवार में 40-40 प्लाट दे रखे हैं। इनमें मतृक संदीप तेल के भाई प्रदीप अग्रवाल के पास 33 प्लाट होने का पता चला है तो दीपक अग्रवाल नाम के व्यक्ति के भी 40 प्लाट हैं। प्रशासन ने ऐसे प्लाट चिन्हित किए हैं और इनकी रजिस्ट्री को सीज कर दिया है।

फीनिक्स टाउनशिप, कालिंदी गोल्ड सिटी और सैटेलाइट हिल्स के भूखंडधारक पीड़ितों को राहत देने के लिए प्रशासन ने सुप्रीम कोर्ट में पेश किए गए प्रस्ताव पर काम शुरू कर दिया है। कलेक्टर मनीषसिंह ने बताया कि जिन लोगों ने पहले पैसे देकर प्लाट खरीदा था, भू-माफिया ने उनको प्लाट की रजिस्ट्री न करके बाद में ऐसे निवेशकों को प्लाट दे दिए जिनके परिवार में 40-40 प्लाट हैं। यह प्लाट डमी सदस्यों के नाम से लिए गए हैं। ऐसे निवेशकों से प्लाट वापस लेकर वास्तविक खरीदारों और पीड़ितों को दिलाए जाएंगे। उधर कालिंदी गोल्ड सिटी में चंपू की पत्नी योगिता अजमेरा द्वारा किसानों से खरीदी गई जमीन पर सीधे किसानों से ही खरीदारों को रजिस्ट्री कराई जा रही थी। प्रशासन ने ऐसी रजिस्ट्रियों पर भी रोक लगा दी है।

सैटेलाइट हिल्स में एक महीने में प्लाट की रजिस्ट्रियां नहीं की तो गर्ग भी जाएगा जेल

कालोनाइजर कैलाशचंद्र गर्ग और चंपू अजमेरा की भागीदारी की सैटेलाइट हिल्स कालोनी में अब केवल गर्ग का कब्जा है। इस कालोनी में कई लोगों को न तो प्लाट की रजिस्ट्री हो पाई है, न ही अब तक कालोनी का विकास किया गया है। इस कालोनी में गर्ग की कारगुजारियों को देखते हुए कलेक्टर ने पीड़ितों को एक महीने में प्लाट की रजिस्ट्री कराने के निर्देश दिए हैं। इसके एक महीने बाद कालोनी का पूरा विकास करने के लिए भी कहा है। यदि गर्ग ने ऐसा नहीं किया तो उसके खिलाफ भी एफआइआर दर्ज कर जेल भेज दिया जाएगा।

Posted By: Sameer Deshpande