HamburgerMenuButton

Indore crime news: Video गरीब लड़कों के फर्जी बैंक खातों में 20 करोड़ों का ट्रांजेक्शन, दलाल व कारोबारी गिरफ्तार

Updated: | Fri, 30 Oct 2020 06:15 AM (IST)

Indore crime news इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि। अन्नपूर्णा थाना पुलिस ने कॉटन कारोबारी गौरव काकाणी व दाल कारोबारी सचिन खंडेलवाल,नितिन खंडेलवाल और दलाल मनोज खंडेलवाल को गिरफ्तार किया है। आरोपित दर्जी राजेशसिंह और डिलीवरी बॉय विनोद पाटीदार के नाम के बुलढाणा बैंक में खाते खुलवा कर करोड़ों का ट्रांजेक्शन कर रहे थे। पुलिस का दावा आरोपितों ने इन खातों के जरिए कालेधन को सफेद किया है। फर्जीवाड़े में बैंक मैनेजर वीनिशा चांडक व फर्जी सीए पीयूष आहूजा भी शामिल है।

एसपी (पश्चिम) महेशचंद जैन के मुताबिक गिरफ्तार आरोपित गौरव काकाणी ने धनश्री एवं सारंग ट्रडर्स ट्रेडिंग कंपनियां बनाई थी। इन कंपनियों का पता कृष्णबाग कॉलोनी दर्शाया और प्रोपराइर्स में विनोद व राजेश का नाम लिख दिया। बैंक मैंनेजर वीनिशा से मिलीभगत कर दोनों के 4 फर्जी खाते भी खुलवाए और विगत दो वर्षों के भीतर आरोपित ने करीब 20 करोड़ का ट्रांजेक्शन कर लिया।

इसमें करोड़ों रुपए महू में पकड़ा ऑनलाइन सट्टा( धनगेम) में जीते गए थे। जिसे जमा करवाने के बाद विभिन्न खातों से रुठ करते हुए निकाल लिया जाता था। इन खातों में नितिन व सचिन द्वारा भी करोड़ों रुपए जमा व निकाले गए है। मामले में फर्जी सीए पियूष आहुजा फिलहाल जेल में बंद है।

सट्टे की जांच करते हुए कारोबारियों तक पहुंची थी पुलिस

सीएसपी (प्रोबेशनर आइपीएस) पुनित गेहलोद के मुताबिक ऑन लाइन सट्टे की जांच के दौरान महू पुलिस राजेश व विनोद के खातों तक पहुंच गई। दोनों को हिरासत में लिया तो उनकी माली हालत देख अफसर चौक गए। उन्होंने बुलढाणा बैंक में खाता खुलवाने से इन्कार कर दिया। जब वीनिशा से पूछताछ की तो बताया खाते गौरव काकाणी ऑपरेट कर रहा है। रुपए निकालते वक्त राजेश व विनोद के हस्ताक्षर करता है। पुलिस ने गौरव को बुलाया तो कहा उसने परिचित मनोज खंडेलवाल को डेढ़ लाख रुपए देकर राजेश व विनोद के नाम से खाते खुलवाए थे।

दलाल ने बनवाया गुमाश्ता लाइसेंस,फर्जी कंपनी भी खुलवाई

सीएसपी के मुताबिक मनोज खंडेलवाल नगर निगम में दलाली करता है। दो साल पूर्व फूड कंपनी के डिलीवरी बॉय विनोद से परिचय हुआ था। उसने कहा तेल,कपास,दाल व्यवसाय के लिए तुम्हारे नाम से खाता खुलवा दूंगा। उसके बदले हर वर्ष 50 हजार रुपए दूंगा। मनोज ने पेन,आधार कार्ड व फोटो लेकर सपना संगीता स्थित एक बैंक में खाता खुलवा दिया। कुछ समय बाद विनोद के जरिए राजेश से मिला और उसके दस्तावेज ले लिए। टैक्स,बैंक के नाम का झांसा देकर दोनों के नाम से सिम भी इशू करवा ली। आरोपित ने गौरव काकाणी से डेढ़ लाख रुपए लेकर खाते सौंप दिए। गौरव ने फर्जी तरिके से बुलढाणा बैंक में भी खाते खुलवा लिए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.