Indore Crime News: श्मशान में नोटों की बारिश करता था तांत्रिक छोटू बाबा, बाधा डालने वाले भूत की तलाश

Updated: | Wed, 20 Oct 2021 07:18 AM (IST)

Indore Crime News: इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि। तांत्रिक छोटू महाराज उर्फ सीमा को विजयनगर थाना पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है। आरोपित को मंगलवार दोपहर कोर्ट पेश कर सोमवार तक रिमांड पर भी ले लिया। दोपहर को उसके आश्रम(सुपर कोरिडोर) पर छापा मारा तो उल्लू,चमगादड़ के अंग व तंत्र क्रिया की सामग्री मिली। शाम को दो युवतियां थाने पहुंची और कहा छोटू ने आरक्षक व नगर सैनिक की नौकरी के बहाने दो लाख रुपये ठगे हैं।

टीआइ तहजीब काजी के मुताबिक छोटू वायएन रोड़ निवासी प्रियंका से भी छोटू महाराज और रवि सोेलंकी उर्फ रविराज ने 40 लाख रुपये ठगे थे। शोरूम संचालिका प्रियंका के मुताबिक कर्मचारी महेंद्र व सुमित के माध्यम से छोटू के आश्रम गई थी। छोटू ने कहा तूम काफी परेशान हो। बेटी और तुम्हे जान का खतरा है।

उसने समस्या हल करने का झांसा दिया और बातचीत बढ़ा ली। उसने रवि से मिलवाया और कहा यह मेरा बेटा है। अभी आइपीएस है लेकिन कुछ समय बाद कमिश्नर बन जाएगा। आरोपित ने खुद केंद्र सरकार के अधीन अंडरकवर एजेंट बताया। उसने पोस्टिंग के लिए रिश्वत देने का झांसा देकर प्रियंका से करीब 40 लाख रुपये ले लिए।

इसके बाद आरोपितों बहाने बनाना शुरु किया और मोबाइल भी बंद कर लिए। एफआइआर के बाद टीम छोटू के आश्रम पहुंची तो तंत्र क्रिया के काम आने वाली सामग्री देख जवान चौक गए। आश्रम में उल्लू,चमगादड़ के अंग व अन्य चीजें थी। पुलिस ने जब गहन पूछताछ की तो छोटू ने बताया वह तंत्र क्रिया के नाम पर भी ठगता था।

कुछ लोगों को नोटों की बारिश के बहाने श्मशान लेकर जाता था। छोटू क्रिया करता था और रवि उसकी मदद करता था। झांसेबाजी कर नोटों की गड्डियां दिखाता और अचानक एक भूत प्रकट हो जाता था। पुलिस के मुताबिक संभवत: गिरोह का सदस्य विष्णु भूत बनकर आता था। पुलिस अब विष्णु की तलाश कर रही है। टीआइ के मुताबिक आरोपित ने प्रीति रघुवंशी व एक अन्य युवती को भी सरकारी नौकरी का झांसा देकर ठगा है।

प्रॉपर्टी व आश्रम की जांच कर रही पुलिस

पुलिस को पता चला है कि जिस आश्रम में छोटू तंत्र क्रिया करता है वह पंजाब के एक बाबा की थी। संदिग्ध अवस्था में हुई मौत के बाद छोटू ने कब्जा कर लिया। पुलिस उसकी प्रॉपर्टी,बैंक खातों और आश्रम की जांच कर रही है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay