Indore Crime News: आभूषणों से लदी जेठानी को देख जलती थी देवरानी, भाई से करवा दी 85 लाख की चोरी

Updated: | Sun, 17 Oct 2021 05:10 AM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। गुमाश्ता नगर में बर्तन कारोबारी कैलाश अग्रवाल के बंगले में हुई एक करोड़ की चोरी का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया। वारदात अग्रवाल की छोटी बहू माधुरी ने ही करवाई थी। माधुरी को इस बात की ईर्ष्या थी कि जेठानी आरती आभूषणों से लदी रहती है। बुधवार को सास कोमल को चेकअप के बहाने ले गई और भाई वैभव 85 लाख रुपये कीमती सोना-चांदी और हीरे के आभूषण लेकर फरार हो गया। पुलिस कम जेवर लौटाती है यह सोचकर अग्रवाल ने एफआइआर में 15 लाख नकदी लिखवा दिए थे। आरोपितों ने सिर्फ 20 हजार रुपये नकदी मिलना कबूला है।

एसपी(पश्चिम) महेश चंद जैन के मुताबिक घटना के वक्त कैलाश अग्रवाल बर्तन बाजार स्थित दुकान पर थे और बड़ी बहू आरती दीपावली की खरीददारी करने बाजार चली गई थी। माधुरी समझ गई कि चोरी का इससे अच्छा अवसर फिर कभी नहीं मिल सकता। सास कोमल को डाक्टर को दिखाने के बहाने 60 फीट रोड़ ले गई और वैभव को काल कर दिया। साजिश के तहत माधुरी ने लाकर में रखे हार, मंगलसूत्र, कंगन, अंगूठियां, चेन की पोटली बांध कर पलंग पर रख दी और दरवाजे का नकूचा भी निकाल गई।

वैभव हेलमेट लगाकर नौकर अरबाज के साथ घर पहुंचा और 20 मिनट के भीतर 85 लाख रुपये के आभूषणों से भरा बैग लेकर फुर्र हो गया। शुक्रवार पुलिस ने वैभव पुत्र शंकर लाल निवासी व्यंकटेश नगर और अरबाज पुत्र याकूब निवासी मोमीनपुर को गिरफ्तार कर लिया। चंदननगर थाना पुलिस ने माधुरी को भी साजिश का आरोपित बनाया है।

घर की खटपट और बहू की हड़बड़ाहट से चोरों तक पहुंची पुलिस

एएसपी(पश्चिम-2) डॉ.प्रशांत चौबे के मुताबिक पुलिस ने माधुरी के पति राहुल की शिकायत पर ही चोरी का केस दर्ज किया था। मौका मुआयना कर फिंगर प्रिंट, सीसीटीवी फुटेज जुटाने की रणनीति बना रही थी माधुरी और आरती में लड़ाई शुरू हो गई। इससे यह पुख्ता हो गया कि घर में अंदरुनी कलह है। माधुरी ने कथनों में बताया उसने सास के लिए जुगनू एप से रिक्शा बुक लिया था। टीआइ दिलीप पुरी ने रिक्शा चालक गोलू को बुलाया तो कहा माधुरी काफी हड़बड़ाहट में थी। शार्टकट की बजाय लंबे रास्ते से ले जा रही थी। घर सूना है यह जानते हुए भी पिता शंकरलाल के घर व्यंकटेश नगर ले गई। डाक्टर जति से बात की तो कहा उन्होंने सुबह ही बता दिया था कि शाम को क्लिनिक बंद रहेगा। इससे माधुरी पर शक पुख्ता हो गया और जांच उस पर आकर टिक गई।

आटो रिक्शा से आए और स्कूटर से भागे आरोपित

पुलिस ने कारपेंटर, दूधवाले, हाकर, सब्जीवाले और रिक्शा वालों से पूछताछ की। एक फुटेज में आटो दिखाई दिया जिससे वैभव व अरबाज उतरे थे। हालांकि दोनों ने हेलमेट पहन रखा था। दशहरा मैदान के समीप एक ऐसा फुटेज मिला, जिसमें वैभव व अरबाज रिक्शा से उतर कर स्कूटर पर बैठते दिख गए। जब वैभव को थाने बुलाया तो प्रारंभिक पूछताछ में टूट गया और कहा जेवरात से भरा बैग घर में रखा है। उसने अरबाज और माधुरी की सारी जानकारी दे दी। वैभव की एल्यूमिनियम की शाप है। उसने अरबाज को 50 हजार रुपये देने का लालच दिया था।

जेठानी का मकान और जेवरात का देख मन ही मन में घुटती थी माधुरी

माधुरी ने पूछताछ में बताया उसने 9 साल पूर्व राहुल से प्रेम विवाह हुआ था। जेठ रोहित की आरती से दूसरी शादी है। इस कारण उसके पास ज्यादा जेवरात थे। साकेत नगर में मकान भी खरीद लिया था। वह उसे देखकर मन ही मन घुटती रहती थी। पिछले 8 महीने से चोरी का षड़यंत्र कर रही थी। उसने वैभव को साजिश के बारे में बताया और सारे जेवरात एकत्र कर रख दिए। जेठ-जेठानी के रूम के ताले तोड़ने की सलाह दी और खुद सास को लेकर निकल गई।

Posted By: gajendra.nagar