Indore Crime News: इंदौर में दस लाख का सामान लेकर भागे दो बदमाश

Updated: | Sat, 25 Sep 2021 09:59 AM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Indore Crime News। भीकनगांव स्थित फोटो स्टूडियो से प्री-वेडिंग शूट के लिए किराए पर बुलवाए कैमरा-फ्लैश लाइट लेकर दो आरोपित भाग गए। सामान की कीमत दस लाख रुपये बताई जा रही है। खरगोन निवासी फोटो स्टूडियो संचालक की शिकायत पर छोटी ग्वालटोली पुलिस ने अमानत में खयानत का प्रकरण दर्ज कर लिया है। फिलहाल आरोपितों की तलाश की जा रही है।

छोटी ग्वालटोली पुलिस के मुताबिक बालाजी कालोनी भीकनगांव निवासी सिद्धार्थ पिता ताराचंद धनगर (28) का बस स्टैंड के पास फोटो स्टूडियो है। सिद्धार्थ ने बताया कि पांच महीने पहले नर्मदा वैली रिसोर्ट (सैलानी टापू) पर प्री वेडिंग शूट करने गया था। उस दौरान मेरी मुलाकात अनिकेत पिता विक्रमसिंह कटियार से हुई। रिसोर्ट में नौकरी करने के साथ उसने मुझे फोटोग्राफर होना बताया। मोबाइल और इंटरनेट मीडिया के जरिए बातचीत शुरू हुई। पंद्रह दिन पहले मुझे अनिकेत का फोन आया और बोला कि प्री वेडिंग शूट के लिए किराये पर सामान चाहिए। तीन चार दिन बाद सामान इंदौर भिजवाने का बोला। इस पर मैने स्वयं सामान इंदौर लाने की बात कहीं तो उसने फोटोशूट कैंसल होने की बात कहीं। 20 सितंबर को दोबारा अनिकेत ने फोन कर मुझे एक सोनी कैमरा, तीन अन्य कैमरे, दो सोनी लैंस, एक फ्लैश गोडेक्स, 200 विथ साफ्ट बाक्स, एक गिम्बल, एक केनन कैमरा, एक पैंटम, चार प्रो प्लस ड्रोन की लिस्ट भेजी। 45 हजार रुपये किराया बताया। बातचीत के बाद 40 हजार रुपये पर सामान इंदौर भिजवाने का बोला। मैने सामान अपने भाई शैलेंद्र के साथ भिजवाया।

भाई शैलेंद्र को अनिकेत महावीर लॉज लेकर गया। उस दौरान अनिकेत का एक मित्र सौरभ भी वहां मौजूद था। खाना खिलाने के लिए शैलेंद्र को सौरभ के साथ भेजा और अनिकेत सामान देखने के बहाने लाज में रुका रहा। अन्नापूर्णा भोजनालय में सौरभ भाई शैलेंद्र को लेकर पहुंचा। थोड़ी देर बाद सौरभ बिल देने का कहकर काउंटर की तरफ गया। कुछ देर इंतजार करने के बाद सौरभ नहीं आया तो भाई शैलेंद्र को शक हुआ और तुरंत लाज पहुंचा। वहां मैनेजर ने अनिकेत द्वारा चेकआउट करना बताया। इसके बाद उसके तीनों नंबर पर संपर्क किया तो मोबाइल बंद मिले। सिद्धार्थ के मुताबिक सामान की कीमत दस लाख रुपये है। पुलिस ने 420-406 की धारा के अंतर्गत प्रकरण दर्ज कर लिया।

Posted By: gajendra.nagar