HamburgerMenuButton

Indore Vaccination Maha Abhiyan: एक दिन में सर्वाधिक टीकाकरण करने वाला देश का पहला जिला बना इंदौर

Updated: | Mon, 21 Jun 2021 10:45 PM (IST)

Indore Vaccination Maha Abhiyan: इंदौर। स्वच्छता के बाद इंदौर ने आज देश में फिर एक नया इतिहास कायम किया है। एक दिन में सर्वाधिक टीकाकरण करने वाला इंदौर देश का पहला जिला बना है। इंदौर जिले में आज टीकाकरण महा-अभियान के तहत एक दिन में दो लाख 12 हजार से अधिक लोगों का टीकाकरण किया गया। टीकाकरण का कार्य जारी है। यह संख्या अभी और बढ़ेगी।

यह जानकारी आज यहां इंदौर जिले के प्रभारी तथा जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने रेसीडेंसी में पत्रकारों से चर्चा के दौरान दी। इस अवसर पर सांसद शंकर लालवानी, गौरव रणदिवे, कलेक्टर मनीष सिंह, नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल भी मौजूद थी। इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को अर्जित करने पर सिलावट ने सभी धर्मगुरुओं, सामाजिक संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं, व्यापारिक तथा औद्योगिक संगठनों, प्रबुद्धजनों, मीडिया से जुड़े प्रतिनिधियों, एडवोकेट, डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ, शासकीय विभागों के अधिकारी और कर्मचारियों, नगर निगम तथा जिला पंचायत के अमले आदि का आभार व्यक्त किया।

उन्होंने विशेषकर इंदौर की जागरूक जनता के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इन सबके सक्रिय सहयोग से ही यह गौरवपूर्ण उपलब्धि हासिल हुई है। कोरोना को हराने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प को पूरा करने के लिये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व एवं निर्देशन में यह उपलब्धि हासिल की गई है, जो कोरोना को हराने में कारगर होगी। उन्होंने कहा कि अब हमारा अगला लक्ष्य इंदौर जिले को शत-प्रतिशत टीकाकृत करने का है।

इस अवसर पर सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि इंदौर जो तय करता है, उसे वह सब मिलकर पूरा करते है। चाहे कितना भी चुनौतीपूर्ण कार्य हो, या कठिन लक्ष्य सबको सबके सहयोग से पूरा किया जाता है। यह इंदौर की विशेषता है। उन्होंने कहा कि इंदौर में टीकाकरण के लिये आज अभूतपूर्व उत्साह था। चाहे ग्रामीण क्षेत्र हो या शहरी सबमें एक जैसा उत्साह देखा गया। लालवानी ने इस उपलब्धि के लिये सभी का आभार व्यक्त किया और कहा कि शासन-प्रशासन की कुशल रणनीति और सूक्ष्म कार्ययोजना से यह लक्ष्य हासिल हुआ है।

कलेक्टर मनीष सिंह ने इस अभियान को सफल बनाने के लिये तैयार की गई रणनीति की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म कार्ययोजना बनाकर उसका मैदानी स्तर पर प्रभावी क्रियान्वयन किया गया। न्यूनतम समय में अधिकतम टीकाकरण हो, इसके लिये प्रत्येक टीकाकरण केन्द्र पर दो-दो ऑपरेटर तैनात किये गये। टीका लगाने वाले स्टॉफ को विशेष प्रशिक्षण दिया गया। समाज के हर वर्ग की बैठकर लेकर उनसे संवाद किया और कार्यक्रम में सहयोग देने और उसे सफल बनाने का आग्रह किया गया। धर्मगुरूओं के संदेश का भी विशेष प्रभाव देखा गया।

जिले में टीकाकरण अभियान की विभिन्न व्यवस्थाएं लोकतंत्र के महोत्सव निर्वाचन की तर्ज पर की गई। टीकाकरण की सामग्री वितरण के लिये फोकल पाइंट बनाये गये। जिले में एक हजार से अधिक टीकाकरण केन्द्र बनाये गये। व्यवस्थाओं की निगरानी के लिये और टीकाकरण केन्द्रों पर आने वाली समस्याओं के निराकरण के लिये एआईसीटीएसएल ऑफिसर में सर्वसुविधायुक्त कंट्रोल रूम स्थापित किया गया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.