DAVV Admission Indore: जेईई मेन का तीसरा चरण होने के बाद इंजीनियरिंग कालेजों में बढ़ी पूछताछ

Updated: | Wed, 04 Aug 2021 08:45 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि DAVV Admission Indore। इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए होने वाली ज्वाइंट एंट्रेंस एक्जामिनेशन जेईई का तीसरा चरण पूर्ण होने के बाद अब विद्यार्थी परिणाम का इंतजार कर रहे हैं और साथ ही कालेजों की तलाश भी शुरू कर दी है। इन दिनों शहर के इंजीनियरिंग कालेजों में रोजाना कई ऐसे विद्यार्थी पहुंच रहे हैं जो प्रवेश लेना चाहते हैं और कालेज की फीस, सुविधाएं, प्लेसमेंट और अन्य जानकारी जानना चाहते हैं।

परीक्षा के विशेषज्ञों का कहना है कि एक सप्ताह में परिणाम जारी हो सकता है। इसके बाद प्रदेश के इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो सकती है। पिछले सालों के पर्सेंटाइल कटआफ के अनुसार इस बार भी 70 से 80 पर्सेंटाइल लाने वाले विद्यार्थियों को भी प्रदेश के बेहतर कालेजों में प्रवेश मिलने की संभावना है। परीक्षा के विशेषज्ञ विजित जैन का कहना है कि महामारी के कारण इस बार कई विद्यार्थी प्रदेश के इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश लेने की बात कर रहे हैं।

इसका असर संस्थानों के पास आ रही पूछताछ से भी लगाया जा सकता है। आइआइटी में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थी जेईई एडवांस की तैयारी कर रहे हैं और इसमें से कुछ ही विद्यार्थी आप्शन के तौर पर प्रदेश के इंजीनियरिंग कालेजों की काउंसिलिंग में शामिल होंगे। ऐसे में जेईई मेन देने वालों की संख्या काउंसिलिंग में ज्यादा रहेगी।

श्री गोविंदराम सेकसरिया प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान (एसजीएसआइटीएस) के निदेशक डा. राकेश सक्सेना का कहना है कि इस बार पिछले सालों के मुकाबले ज्यादा पूछताछ के लिए विद्यार्थियों और माता-पिता के फोन आ रहे हैं। हम सभी से कह रहे हैं कि अभी कुछ दिन और इंतजार करना होगा। पिछले सालों के कटआफ रिकार्ड डायरेक्टोरेट आफ टेक्निकल एजुकेशन (डीटीई) पर देख सकते हैं। हमारे संस्थान के कोर्सेस, फीस, सुविधाएं, प्लेसमेंट, शिक्षकों की प्रोफाइल और अन्य जानकारी भी विद्यार्थी हमारी वेबसाइट पर देख सकते हैं।

देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलाजी (आइईटी) में भी विद्यार्थी प्रवेश लेने के लिए उत्साहित है। शहर के इन दोनों संस्थानों में पिछले सालों में जेईई मेन में बेहतर अंक प्राप्त करने वाले कई विद्यार्थी प्रवेश लेते रहे हैं। प्लेसमेंट के लिहाज से भी दोनों संस्थान प्रदेश में इंजीनियरिंग कालेजों के मामलों में टाप पर बने हुए है।

Posted By: Sameer Deshpande