Jansunwai Indore News: जनसुनवाई में उमड़े प्रापर्टी दलालों और कालोनाइजरों से पीड़ित लोग

Updated: | Tue, 26 Oct 2021 08:14 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Jansunwai Indore News। प्रशासन ने आम जनता को धोखा देने वाले प्रापर्टी दलालों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की तो कलेक्टर की जनसुनवाई में भी दलालों और कालोनाइजरों की कारगुजारियों से त्रस्त लोग उमड़ने लगे हैं। पैसे लेकर भी प्लाट न मिलने पर कई लोग दलालों की शिकायत लेकर मंगलवार को जनसुनवाई में पहुंचे। अधिकारियों ने पीड़ितों के आवेदन लेकर प्लाट दिलवाने का भरोसा दिलाया। अधिकारियों ने पीड़ितों के सामने ही दलालों को फोन लगाकर फटकार भी लगाई।

अपर कलेक्टर राजेश राठौड़ ने पीड़ित किशोर खांडे की शिकायत पर प्रापर्टी दलाल मनोज नागर को फोन किया। दूसरी तरफ से नागर ने कहा कि वह विधानसभा और लोकसभा उपचुनाव में काम करने आया हुआ है। इस पर अपर कलेक्टर ने फटकारा कि जिनके प्रचार में गए हो वे तो जीत जाएंगे, लेकिन तुम वापस आ जाओ। जिन लोगों से प्लाट के पैसे लिए हैं, उन्हें वापस करो। खांडे ने शिकायत की कि खंडवा रोड पर गणेश नगर के पीछे श्रीयंत्र नगर के पास बिलावली में कृषि भूमि पर दलाल नागर और सिकंदर हिरवे से 13 लाख 31 हजार 250 रुपये में प्लाट का सौदा किया था। मैंने एग्रीमेंट और डाउन पेमेंट मिलाकर दोनों को पांच लाख रुपये दिए। बाकी पैसे बैंक लोन मंजूर होने के बाद देने और रजिस्ट्री करवाने का अनुबंध किया था। कम लोन मिलने पर मैंने प्लाट का सौदा निरस्त कर दिया। अब दोनों दलाल मेरे पांच लाख रुपये वापस नहीं दे रहे हैं।

शासकीय पट्टे की जमीन पर बेच दिया प्लाट

धीरज नगर निवासी शिवनारायण यादव ने शिकायत की कि दृष्टि देवकान प्रालि की ओर से बिहाड़िया गांव में कालोनी काटी गई है। मैंने कंपनी संचालक अंकुर माहेश्वरी को छह लाख रुपये देकर प्लाट लिया था। माहेश्वरी से जमीन के दस्तावेज मांगे तो नहीं दिए। बाद में पता चला कि यह शासकीय पट्टे की जमीन है। मैंने माहेश्वरी से पैसे वापस मांगे तो अभद्र व्यवहार कर भगा दिया। अपर कलेक्टर ने माहेश्वरी को भी फोन किया और पीड़ित के पैसे वापस देने के लिए कहा। बेटमा के ताजखेड़ी में फेमस विला रेसीडेंसी टाउनशिप में बिजली, सफाई, सुरक्षा आदि की व्यवस्था न होने पर रहवासियों ने कालोनाइजर के खिलाफ शिकायत की। जनसुनवाई में अपर कलेक्टर पवन जैन, अभय बेड़ेकर और अजयदेव शर्मा ने भी लोगों की समस्याएं सुनीं।

Posted By: gajendra.nagar