HamburgerMenuButton

Lalbagh Palace Indore: मुख्यमंत्री का वादा... इंदौर के लालबाग पैलेस के गौरव को करेंगे स्थापित

Updated: | Wed, 16 Jun 2021 07:28 AM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि), Lalbagh Palace Indore। लालबाग पैलेस और परिसर के संरक्षण और संवर्धन को लेकर राज्य सरकार ने एक बार फिर उत्साह दिखाया है। जल संसाधन मंत्री और इंदौर के प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट ने मंगलवार को भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से लालबाग के संरक्षण को लेकर अनुरोध किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर के लालबाग पैलेस के गौरव को पुन: स्थापित किया जाएगा। लालबाग की शान और विलक्षणता को स्थापित करने के लिए राज्य सरकार हरसंभव प्रयास करेगी। इंदौर में 72 एकड़ में फैली 135 साल पुरानी इस धरोहर के पुनरुद्धार का कार्यक्रम शीघ्र शुरू होगा।

पुरातत्व विभाग की उदासीनता को लेकर नईदुनिया ने 14 जून को खबर प्रकाशित की। इसके बाद प्रभारी मंत्री ने लालबाग के संरक्षण को लेकर तत्परता दिखाई। सीएम से मुलाकात के दौरान सिलावट के साथ पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्रसिंह सिसोदिया भी थे। सिलावट ने पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर से भी मुलाकात की। दोनों मंत्रियों ने धरोहर के संरक्षण के लिए काम करने का संकल्प लिया।

उप संचालक ने कहा- लाकडाउन के कारण काम में देरी हुई

पुरातत्व विभाग के उप संचालक एसआर वर्मा ने बताया कि लाकडाउन के कारण लालबाग के संरक्षण और जीर्णोद्धार के कार्यों में देरी हुई। अब इसका कार्य तेजी से किया जाएगा। शासन ने संग्रहालयों को खोलने की अनुमति भी दे दी है। बुधवार से लालबाग पर्यटकों के लिए भी खोल दिया जाएगा।

नौ करोड़ रुपये के कार्य कर रहा विभाग

लालबाग में विभाग नौ करोड़ रुपये के कार्य कर रहा है। इसमें लालबाग पैलेस की छत के अलावा दरवाजे, खिड़कियों, कुर्सियों आदि की मरम्मत का काम भी है। इसके अलावा विश्व धरोहर निधि से भी पैलेस के अंदर कलाकृतियों के नवीनीकरण आदि का कार्य किया जा रहा है।

वर्तमान स्थिति और बदहाली

- लालबाग पैलेस में बारिश का पानी टपकता है।

- छत क्षतिग्रस्त हो चुकी है।

- कलाकृतियां भी खराब हो रही हैं।

- केसरबाग रोड पर परिसर की बाउंड्रीवाल भी टूट चुकी है।

- परिसर सुरक्षित नहीं है और यहां असामाजिक तत्वों का डेरा रहता है।

Posted By: Prashant Pandey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.